आरिफ मसूद पर जमकर भड़के टीआई, कहा- जेल में विधायक का क्या हस्तक्षेप?

Reported By: Naveen Singh, Edited By: Vivek Mishra

Published on 22 May 2019 09:29 PM, Updated On 22 May 2019 09:29 PM

भोपाल। मध्यप्रदेश पुलिस के अधिकारी और वीर रस के कवि चौधरी मदन मोहन समर कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद पर जमकर भड़के हुए हैं। फेसबुक पर पोस्ट कर मदन मोहन समर ने आरिफ मसूद पर भोपाल में गदर फिल्म के विरोध के चलते दंगे कराने के आरोप लगाए हैं। दरअसल चौधरी मदन मोहन समर कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद की उस मांग को लेकर नाराज हैं जिनमें मसूद ने जेल में बंद कैदियों के लिए बाहर से खाद्य सामग्री भिजवाने की वकालत की है।

ये भी पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट में प्रमोशन के लिए 4 जजों के नाम तय! गुरूवार तक जारी होगी अधिसूचना

आरिफ मसूद ने जेल डीजी संजय चौधरी को ये फरमान नहीं मानने पर उन्हें हटवाने और देख लेने की बात भी मुख्यमंत्री कमलनाथ से की है। इसी विवाद से नाराज पुलिस अधिकारी चौधरी मदन मोहन समर ने फेसबुक पर पोस्ट करते हुए लिखा है एक विधायक किसी दरोगा, टीआई, डिप्टी, एसपी या आईजी को हटाने की बात करे तो माना जाता है लेकिन विधायक महोदय के इनसे सम्बन्ध खराब हो गए होगें। अधिकारी विधायक का हस्तक्षेप नहीं मान रहे होंगे, लेकिन डीजी जेल से सम्बन्ध कैसे खराब हुए? जेल में विधायक का क्या हस्तक्षेप?

ये भी पढ़ें: छग पुलिस का ऑनलाइन एफआईआर पोर्टल ठप, हैक होने की आशंका

उन्होंने कहा कि, यह विचारणीय प्रश्न है...चौधरी मदन मोहन समर ने सिमी आतंकियों का हवाला देते हुए लिखा की भोपाल जेल में अनेक खतरनाक कैदी हैं। वे कौन हैं यह सब जानते हैं। आखिर विधायक उन कैदियों के सर परस्त बनने का मौका क्यों छोड़े।क्या सुविधा चाहिए उन्हें, क्या बाहरी सामग्री भेजना चाहते हैं ये विधायक जी जेल के भीतर?

Web Title : TI, furiously on MLA Arif Masood, said: What intervention of the MLA in jail?

जरूर देखिये