महान गायक किशोर कुमार की आज 90वीं जयंती, जानिए इनसे जुड़े कुछ अनसुने सच

 Edited By: Vivek Mishra

Published on 04 Aug 2019 09:41 AM, Updated On 04 Aug 2019 09:41 AM

खंडवा। हरफनमौला कलाकार और महान गायक किशोर कुमार की आज 90वीं जयंती है। सुरों के सम्राट किशोर दा के जन्मदिन के मौके पर खंडवा में उनकी समाधि पर हजारों प्रशंसक सुबह से ही पहुंचने लगे हैं। उनकी समाधि स्थल पर उन्हें गीतों के माध्यम से और दूध जलेबी का भोग लगाकर याद कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें: 9 अगस्त को विश्व आदिवासी दिवस, मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम ने तैयारियों को लेकर 

बता दें कि सिंगर, संगीतकार, एक्टर, डायरेक्टर और प्रोड्यूसर किशोर कुमार का जन्म मध्य प्रदेश के खंडवा में हुआ था और उनकी अंतिम इच्छा के मुताबिक उनका अंतिम संस्कार भी खंडवा में ही किया गया था। किशोर दा ने ताउम्र खंडवा को न केवल याद रखा बल्कि वे अपने गानों में भी खंडवा का जिक्र जरूर करते थे। जब उनका अंतिम समय आया उन्होंने अपनी वसीयत में लिख दिया कि मेरी मौत के बाद मुझे खंडवा की माटी में ही विलीन किया जाए। यही वजह थी कि अब भी खंडवावासी उनको दिलो-जान से चाहते हैं।

ये भी पढ़ें: गरीब जनता के लिए प्रदेश सरकार का बड़ा फैसला, नॉमिनी को राशन देने वाला देश का बनेगा ये पहला 

किशोर दा सुर और संगीत के सम्राट ही नहीं थे, बल्कि वो एक जज्बाती व्यक्तित्व के मालिक भी थे। फिल्मों में अभिनय के दौरान उनका चुलबुलापन केवल रूपहले पर्दे तक सीमित नहीं था। बल्कि आम लोगों से भी उसी जिंदादिली से मिला करते थे। ऐसे किशोर का जन्मदिन लोग सदियों तक इसी उल्लास के साथ मनाते रहेंगे।

Web Title : Today 90th birth anniversary of legendary singer Kishore Kumar, know some unheard truth related to them

जरूर देखिये