आखिरकार हटाया गया शराब और चिकन मांगने वाले अपर कलेक्टर को, पटवारी- तहसीलदारों को डिमांड से कर रखा था परेशान

Reported By: Neeraj Yogi, Edited By: Rupesh Sahu

Published on 06 Jun 2019 05:50 PM, Updated On 06 Jun 2019 05:50 PM

गुना। जिले में भ्रष्टाचार सिर चढ़कर बोल रहा है। जहां जिले के बड़े होदे पर बैठे अधिकारी भी खुलेआम निजी उपयोग की वस्तुओं के साथ शराब और मीट की डिमांड खुलेआम कर रहे हैं। पूर्ति न करने पर झूठे केस बनाकर भविष्य खराब करने की बात कहकर कर्मचारियों पर दबाव बनाया जाता है । उच्च अधिकारी अभद्र भाषा का भी उपयोग करते हैं।

ये भी पढ़ें- लक्ष्मणेश्वर मंदिर में लाश मिलने से बवाल, पुलिस पर पथराव करने वाले ...

इसको लेकर एक दर्जन पटवारी, तहसीलदार, नायब तहसीलदारों ने गुना के अपर कलेक्टर दिलीप मंडावी के खिलाफ 28 मई को लिखित शिकायत सामान्य प्रशासन विभाग के प्रमुख सचिव भोपाल के नाम पत्र लिखकर की थी। इसका आवेदन गुना कलेक्टर को भी सौंपा गया था। लेकिन 9 दिन बीत जाने के बाद भी इस पर कोई कार्यवाही नहीं हुई। और तो और अधिकारी इस मामले पर कुछ बोलने से बचते नजर आ रहे हैं।

ये भी पढ़ें- PWD मंत्री ने खुद की सरकार को बताया कमजोर, कहा- जनता को अपनी बात सम...

ऐसे में गुरुवार को एक बार फिर चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया। शिकायत मिलने के बाद डिप्टी कलेक्टर शिवानी रायकवार ने अनुचित मांग को पूरा न करने के लिए अधिकारियों के ऑफिसियल व्हाट्सएप ग्रुप पर भी संदेश बनाकर पोस्ट कर दिया था। इस संदेश में यह भी लिखा था कि "adm को दारू चिकन जैसी अनुचित मांग को पूरा न किया जाए, अगर अनुचित मांग पूरा करते हैं तो उनके विरुद्ध भी कार्रवाई की जाएगी। अनाधिकृत लाभ पहुंचाने संबंधी कार्यवाही प्रस्तावित की जाएगी।"

ये भी पढ़ें- पीएम मोदी से मिले कमलनाथ, सांसद नकुलनाथ भी रहे मौजूद

डिप्टी कलेक्टर शिवानी रायकवार के इस संदेश के वायरल होने के बाद गुना अपर कलेक्टर के भ्रष्टाचार की पोल खुल गई। इस मामले को आईबीसी 24 ने भी प्रमुखता से उठाया था। हमने ये सवाल उठाया कि एक दर्जन पटवारी तहसीलदार नायब तहसीलदारों की लिखित शिकायत होने के बाद भी आखिर क्यों अधिकारी कार्यवाही करने से डर रहे हैं। क्यों अभी तक भ्रष्टाचार करने वाले अधिकारी पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। क्यों अधिकारी इस मामले में अपनी प्रतिक्रिया देने से बच रहे हैं। बता दें कि इस मामले में गुना कलेक्टर प्रतिक्रिया देने से बचते नजर आ रहे थे। । वहीं दूसरी तरफ गुना सीट से सांसद के पी यादव ने भी मंच से अधिकारियों को लेकर हिदायत दी है उन्होंने कहा है कि जो अभी तक चल रहा था वैसा अब आगे नहीं चलेगा। अगर अधिकारी भ्रष्टाचार करते हैं तो में सीधा भी हूं लेकिन कठोर भी हूं।

ये भी पढ़ें- राजेश कुमार कौल होंगे बुरहानपुर के ​नए कलेक्टर, सरकार ने जारी किया ...

इस मामले में IBC24 की खबर का असर हुआ है । प्रशासन ने गुना अपर कलेक्टर दिलीप मंडावी को गुना से हटाया दिया है। मंडावी को भोपाल अटैच किया गया है ।

 

Web Title : Transferred to additional collector Patwari-Tehsildars had complained

जरूर देखिये