उद्धव ठाकरे ने एक बार फिर केंद्र सरकार के फैसले को कठघरे में खड़ा किया है। 

Reported By: Abhishek Mishra, Edited By: Abhishek Mishra

Published on 07 Oct 2017 05:33 PM, Updated On 07 Oct 2017 05:33 PM

ये भी पढ़ें- केंद्र सरकार ने दिया जीएसटी कटौती का दिवाली गिफ्ट

उद्धव ठाकरे ने नरेंद्र मोदी सरकार और भारतीय जनता पार्टी से बिल्कुल अलग लाइन लेते हुए कहा कि जीएसटी काउंसिल ने जिन बदलावों की किसी घोषणा की है, वो दिवाली गिफ्ट नहीं है। अभी और ज्यादा बदलावों की ज़रूरत है। उद्धव ठाकरे ने कहा कि इन बदलावों का ऐलान आगामी गुजरात विधानसभा चुनाव को देखते हुए किया गया है और ये बदलाव इसलिए किए गए क्योंकि विपक्ष की ओर से इसे उठाया जा रहा था और जनता के बीच असंतोष था। 

ये भी पढ़ें- 'GDP में गिरावट अस्थाई, भारतीय अर्थव्यवस्था में GST से आएगा बड़ा बदलाव'

शिवसेना प्रमुख ने जीएसटी काउंसिल की 22वीं बैठक के बाद बदलावों की घोषणा पर कहा कि मैं कोई अर्थशास्त्री नहीं हूं, लेकिन ये ज़रूर कहना चाहूंगा कि पूर्व सरकार अपने फैसलों पर दृढ़ रहती थी। उद्धव ठाकरे ने कहा कि जनता अभी भी खुश नहीं है, पेट्रोल की कीमतें अभी भी काफी ज्यादा हैं, महंगाई अभी भी उच्चतम स्तर पर है। उन्होंने कहा कि हम केंद्र सरकार को जीएसटी के तहत टैक्स स्लैब घटाने के लिए धन्यवाद देते हैं, लेकिन अब तक जो टैक्स वसूली हुई है, क्या वो रिफंड होगा? शिवसेना प्रमुख ने बीजेपी को अल्टीमेटम देते हुए कहा कि अब वक्त आ चुका है, हम यहां जनता की सेवा के लिए हैं और हम जनता की सेवा करते रहेंगे।

 

वेब डेस्क, IBC24

Web Title : Uddhav Thackeray has once again put the central government's decision in the courtroom.

जरूर देखिये