ब्रिटेन मध्यावधि चुनाव: पीएम टेरीजा मे की कंजर्वेटिव पार्टी को बड़ा झटका

Reported By: Abhishek Mishra, Edited By: Abhishek Mishra

Published on 09 Jun 2017 01:30 PM, Updated On 09 Jun 2017 01:30 PM

लंदन: ब्रिटेन में हुए मध्यावधि चुनाव में प्रधानमंत्री टेरीजा मे की कंजर्वेटिव पार्टी को बड़ा झटका लगा जब वह संसद में अपनी पार्टी का बहुमत बरकरार रखने में नाकाम रही.  शुक्रवार को हुई मतगणना में हालांकि कंजरवेटिव सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। अब टेरीजा के समय से तीन साल पहले चुनाव कराने पर सवालों से जूझना पड़ रहा है। बहुमत से दूर रहने के कारण अब उनपर इस्तीफे का दबाव भी बढ़ रहा है। हालांकि टेरीजा मे ने इस्तीफा देने से इनकार कर दिया है। 2015 में हुए चुनाव में कंजर्वेटिव पार्टी को 331 सीटें मिली थीं और उसके पास बहुमत का आंकड़ा था। 

इस चुनाव को ब्रेग्जिट चुनाव के तौर पर देखा जा रहा था और इस परिणाम को उन 48 प्रतिशत लोगों के लिए उम्मीद की किरण समझा जा रहा है, जिन्होंने जून 2016 में हुए जनमत संग्रह में यूरोपीय संघ में बने रहने के लिए वोट दिया था। टरीजा ने जटिल ब्रेग्जिट वार्ता में अपनी स्थिति मजबूत करने के प्रयास के तहत निर्धारित समय से तीन साल पहले चुनाव कराए थे। 

हालांकि कंजरवेटिव पार्टी ब्रिटेन की 650 सदस्यीय संसद के लिए हुए चुनाव में सबसे बड़ी पार्टी बन कर उभरी है, लेकिन जेरेमी कॉर्बिन के नेतृत्व में विपक्षी लेबर पार्टी के शानदार प्रदर्शन के बाद टरीजा के अपने पद पर बने रहने को अपमानजनक बताया जा रहा है। ब्रितानी मीडिया के अनुसार परिणाम टरीजा के लिए अपमानजनक हैं। ब्रेग्जिट वार्ता 19 जून को आरंभ होनी है, लेकिन दोनों बड़े राजनीतिक दलों के भाग्य के एक तरह से पलटने से इस वार्ता कार्यक्रम को लेकर अनिश्चितता पैदा हो गई है। 

 

Web Title : UK midterm elections

जरूर देखिये