पाकिस्तान में महंगाई नियंत्रण से बाहर, दूध 120 रुपए लीटर तो 1100 रुपए किलो बिक रहा मटन

 Edited By: Rupesh Sahu

Published on 18 May 2019 09:16 AM, Updated On 18 May 2019 09:16 AM

नई दिल्ली। पाकिस्तान की हालत दिन-ब-दिन खराब होती जा रही है। यहां स्थिति ये है कि लोगों को फल, सब्जी और दूध जैसी रोजमर्रा की चीजें खरीदने के लिए तरसना पड़ रहा है। हालात ये हैं कि गरीबों का जीना मुहाल हो गया है। दरअसल पाकिस्तानी मुद्रा डॉलर के मुकाबले अपने सबसे निचले स्तर पर पहुंच गई है। मंहगाई आसमान छू रही है। ये अब तक के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई है। पाकिस्तान में हालत ये है कि एक दर्जन संतरे 360 रुपये तो वहीं नीबू और सेब 400 रुपये किलो मिल रहे हैं। गरीबों के लिए ये चीजें पहुंच से बाहर हो गई हैं।

ये भी पढ़ें- श्रीलंका में भड़के मुस्लिम विरोधी दंगे, सरकार ने किया राष्ट्रव्यापी...

पाकिस्तानी आवाम ट्वीट के जरिए अपना गुस्सा जाहिर कर रही है। एक शख्स ने फलों और सब्जियों की कीमत ट्वीट कर अपनी नाराजगी जाहिर की है। ट्वीट के मुताबिक, पाकिस्तान में अब फल और सब्जी खाना पहुंच के बाहर है । यहां 360 रुपये दर्जन संतरे, 150 रुपये दर्जन केले, नींबू और सेब 400 रुपए किलो बिक रहे हैं। मटन का भाव तो आसमान छू रहा है। पाकिस्तान में मटन 1100 रुपये किलो तो चिकन 320 रुपये किलो बिक रहा है। एक लीटर दूध कीमत तकरीबन 120 रुपए है।

ये भी पढ़ें- बंद थी फ्लाइट की लाइट, अचानक खुली युवती की नींद, बगल की सीट पर बैठा...

महंगाई बढ़ने का कारण

पाकिस्तान की इकॉनमी आईएमएफ के भरोसे से चल रही है । यदि विशेषज्ञों की मानें तो अगले एक साल में पाकिस्तानी मुद्रा डॉलर के मुकाबले 250 रुपए तक पहुंच जाएगी। यह चेतावनी पाकिस्तान के जाने-माने अर्थशास्त्री कैसर बंगाली ने दी है। पाकिस्तान में केंद्र और राज्य सरकारों के साथ काम कर चुके अर्थशास्त्री बंगाली ने कहा, 'हमारी सरकारों का विदेश नीति पर कोई जोर नहीं चलता। अब अर्थव्यवस्था पर भी उनके हाथ बंधे हुए दिख रहे हैं। हमारी अर्थव्यवस्था को आईएमएफ और वर्ल्ड बैंक ने पूरी तरह से हथिया लिया है' ।

Web Title : Uncontrolled inflation in Pakistan, milk 120 liters, 1100 rupees per kg of mutton

जरूर देखिये