अनूठी पहल, गांव के राशनकार्डधारियों ने लगाया पौधा, ट्री गार्ड में नाम और नंबर दर्ज, संरक्षण की जिम्मेदारी भी ली.. देखिए

 Edited By: Abhishek Mishra

Published on 18 Jun 2019 11:58 AM, Updated On 18 Jun 2019 11:58 AM

महासमुंद। पर्यावरण संरक्षण के लिए पौधों को लगाया जाना आम बात है, पर राशनकार्डधारी के नाम पर पौधा लगाना और उसका संरक्षण राशनकार्डधारी के परिवार की तरफ से करने की अनोखी पहल महासमुंद में की गई है, जिले के बन्दोरा गांव में 80 राशनकार्डधारियों ने पर्यावरण संरक्षण की तरफ कदम बढ़ाते हुए गांव में फलदार पौधे लगाए।

पढ़ें- मानसून ने पकड़ी रफ्तार, 20 तक देगा दस्तक, अगले 72 घंटों में इन जगहों पर भारी बारिश की चेतावनी.. द...

साथ ही इसकी संरक्षण की जिम्मेदारी भी उठाई। जनसहयोग से आम के पौधे मंगाये गए और पौधे के संरक्षण के लिए ट्री गार्ड भी बनवाया गया। बकायदा ट्री गार्ड पर राशनकार्ड धारी के नाम के साथ कार्ड नम्बर भी अंकित किया गया है। ग्रामीणों का मानना है कि इस पहल को सभी पंचायतों को अपनाना चाहिए। ताकि आने वाली पीढ़ी को फलों के साथ अच्छा पर्यावरण भी मिल सके।

पढ़ें- धमतरी जिले में आ धमके थे 15 से 16 नक्सली, मुठभेड़ में 1 महिला नक्सल.

बता दें ग्राम बंदोरा में 90 मकान हैं जहां 140 से अधिक राशनकार्डधारी हैं। सभी ने अपने बुजुर्गजनों की स्मृति में ये फलदार पौधे लगाए हैं। पौधरोपण के बाद एक बच्चे की तरह इसकी सेवा करेंगे। ट्री गार्ड, खाद, पानी सभी की जिम्मेदारी प्रत्येक परिवार की होगी। परिवार का आशय राशनकार्डधारी से तय किया गया है।

पढ़ें- गजराज की आंख फोड़कर मंगवाता था भीख, इलाज के दौरान हुई मादा हाथी की 

सिर्फ आम के पेड़ लगाने पर सरपंच कृष्णचंद्र पटेल ने बताया कि आम फलदार वृक्ष है। इससे फल भी मिलेगा, छांव भी मिलेगा, आक्सीजन भी मिलेगा और सघन पौधरोपण से बारिश भी होगी। पौधरोपण के लिए आम चुनने की वजह यह भी बताई गई कि अभी गांव में जो आम के पेड़ हैं, वह गांव के दिवंगत बुजुर्गों के लगाए पेड़ हैं।

पढ़ें- स्कूल एवं शिक्षा विभाग के सचिव को अवमानना नोटिस जारी, 3 हफ्ते में म...

जेसीबी-कार की भिड़ंत में 5 की मौत, एक ही परिवार के थे सभी.. देखिए

 

Web Title : Unique initiative, ration card holders planted by village

जरूर देखिये