विकास तिवारी का सवाल, भाजपा के धरना प्रदर्शन से क्यों गायब थे चिटफंड कांड के मुद्दे और आरोपी.. देखिए

 Edited By: Abhishek Mishra

Published on 23 Jun 2019 03:20 PM, Updated On 23 Jun 2019 03:20 PM

रायपुर। छत्तीसगढ़ कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता विकास तिवारी ने शनिवार को भारतीय जनता पार्टी के धरना प्रदर्शन को ठोंग बताया। तिवारी ने खेद जताया है कि रमन सिंह धरने पर तो बैठे थे। लेकिन वे और भारतीय जनता पार्टी प्रदेश के मुद्दे को लेकर कितना संजीदा थे ये साफ हो गया। उनके धरना प्रदर्शन में चीटफंड कंपनी से लूटे गए बेकसूरों का कोई मुद्दा नहीं था। राज्य के लाखों लोगों से उनके खून पसीने की करोड़ों रुपए को चिटफंड कंपनियों द्वारा लूटा गया। इसके चलते सैकड़ों बेकसूर एजेंट जेल भी गए और कईयों ने आत्महत्या भी कर ली थी। लेकिन इस विषय को भी पूर्व मुख्यमंत्री द्वारा धरना में नहीं उठाया गया।

पढ़ें- प्रशासनिक सर्जरी, 13 अधिकारियों के विभाग बदले गए, गौरव सिंह को जिला..

चिटफंड कांड के मुख्य आरोपी भाजपा शासन काल में ना केवल आजाद घूमते रहे बल्कि प्रदेश को लूटने का काम अनवरत बेरोकटोक करते रहे। कल के धरना में अगर चिटफंड कांड के विषय को भी प्रमुखता से लिया जा सकता था। लेकिन ऐसा नहीं किया गया। 

पढ़ें- सीएम बघेल के कार्यक्रम की अध्यक्षता करेंगी बल्दी बाई, बुजुर्ग के घर...

प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के बेटे पूर्व सांसद अभिषेक सिंह और राजनांदगांव के महापौर मधुसूदन यादव का शनिवार के धरना से गायब रहना प्रदेश की जनता भी जानती है। उनका बस यही सवाल है कि उनके खून पसीने की गाढ़ी कमाई को लूटने वाले चिटफंड कंपनियों और उनके मालिकों पर पूर्व मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह और भारतीय जनता पार्टी मौन क्यों है?

पढ़ें- खरोरा से 4 किमी पहले अनियंत्रित बस पलटी, 10 यात्री घायल, दो बच्चे और महिलाएं भी शामिल

प्रवक्ता विकास तिवारी ने पूछा कि क्या पूर्व मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह और भारतीय जनता पार्टी चिटफंड कंपनियों में डूबे प्रदेश के दस हजार करोड़ से अधिक की राशि को वापस दिलाने का मुद्दा उठाएंगे ? क्या चिटफंड कांड में फंसे हुए लोगों की मदद करेंगे ? क्या चिटफंड कांड में बेवजह जेल में बंद चिटफंड एजेंटों की आवाज को बुलंद करेंगे ? इन सभी विषयों को भी बेबाकी के साथ जनता को बताना चाहिए।

आरंग में मिले अतीत के अवशेष.. देखिए 

 

Web Title : Vikas Tiwari targeted to bjp's protest in raipur

जरूर देखिये