Villagers protest against Elephant Reserve, villagers reach collector office, CM announced on August 15 | एलिफेंट रिजर्व का ​ग्रामीणों ने किया ​विरोध, कलेक्टर कार्यालय पहुंचे ग्रामीण, 15 अगस्त को सीएम ने की थी घोषणा

एलिफेंट रिजर्व का ​ग्रामीणों ने किया ​विरोध, कलेक्टर कार्यालय पहुंचे ग्रामीण, 15 अगस्त को सीएम ने की थी घोषणा

 Edited By: Anil Kumar Shukla

Published on 20 Aug 2019 02:46 PM, Updated On 20 Aug 2019 02:46 PM

कोरबा। स्वतंत्रता दिवस के दिन मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा घोषित लेमरू एलिफेंट रिजर्व का विरोध शुरू हो गया है। एलिफेंट रिजर्व नही बनाने की मांग को लेकर स्थनीय ग्रामीण आज कलेक्ट्रेट पहुंचकर लेमरू एलिफेंट रिजर्व का विरोध किया। ग्रामीणों ने कहा कि हमे एलिफेंट रिजर्व नही चाहिए।

read more: करेंट लगने से इंजीनियर की मौत, परिजनों ने कंपनी पर लापरवाही का आरोप लगाया, शव का पीएम कराने से कि...

कलेक्टर कार्यालय पहुंचे ग्रामीणों ने कहा कि हमे सड़क, पानी, बिजली की सुविधा चाहिए हमें एलिफेंट रिजर्व नही चाहिए। ग्रामीणों ने कहा पहले भी बांगो बांध के लिए जमीन ली गई थी अब फिर से जमीन ली जाएगी। हम जंगल पर ही निर्भर हैं इसलिए हमें एलिफेंट रिजर्व नही चाहिए।

read more: देवेंद्र नगर चौराहे पर सीएम बघेल की चौपाल, चाय की चुस्की के साथ सुन...

बता दें कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 15 अगस्त को लेमरू एलिफेंट रिजर्व बनाने की घोषणा की थी, जिसका उद्देश यह था कि हाथियों के द्वारा जन धन का नुकसान हो रहा है, हाथियों के लिए उचित स्थान न होने के कारण वे इधर उधर विचरण करते हैं जिसके के कारण कई बार दर्दनाक घटनाएं होती है। इसलिए हाथियों के लिए उचित निवास बनाया जाए तभी उन्हे नियंत्रित किया जा सकता है।

Web Title : Villagers protest against Elephant Reserve, villagers reach collector office, CM announced on August 15

जरूर देखिये