लोकसभा चुनाव के बाद भी हिंसा जारी, 3 TMC कार्यकर्ताओं की हत्या, परिजनों ने कांग्रेस नेताओं पर लगाया आरोप

 Edited By: Rupesh Sahu

Published on 15 Jun 2019 01:29 PM, Updated On 15 Jun 2019 01:29 PM

पश्चिम बंगाल । राज्य के मुर्शिदाबाद में टीएमसी कार्यकर्ताओं के घर पर फेंके गए बम में 3 लोगों की मौत हो गई। मरने वाले टीएमसी कार्यकर्ताओं की पहचान खैरुद्दीन शेख और सोहेल राणा के रूप में हुई है।पीड़ित परिवार ने हमले के पीछे कांग्रेस कार्यकर्ताओं का हाथ बताया है।

ये भी पढ़ें- स्टेट गवर्निंग काउंसिल की बैठक, राज्यपाल आनंदीबेन के साथ कई उद्योगपति हुए शामिल

बम फेंकने की घटना के बारे में खैरुद्दीन के बेटे मिलन शेख ने कहा कि हम जब सो रहे थे तभी अचानक हमारे घर पर बम फेंके गए। उन लोगों ने मेरे पिता की गोली मारकर हत्या कर दी। मिलन ने कहा कि कुछ दिन पहले उसके चाचा को मार दिया गया था। उसने इस हमले के पीछे कांग्रेस का हाथ बताया।

ये भी पढ़ें- '6 महीने में बना अंधेरे का प्रदेश', जानिए पूर्व सीएम की बड़ी प्रेस कॉन्फ्रेंस की बड़ी

स्थानीय टीएमसी नेता अबू ताहेर ने घटना के पीछे कांग्रेस के साथ बीजेपी को भी जिम्मेदार बताया है। बता दें कि पश्चिम बंगाल में बीजेपी और टीएमसी कार्यकर्ताओं के बीच पंचायत चुनाव के बाद लोकसभा चुनाव में लगातार हिंसा देखने को मिल रही है।

ये भी पढ़ें- नाबालिग से छेड़छाड़, आरोपी से डरकर बच्ची ने किया जहर का सेवन, जिला अस्पताल में इलाज

पश्चिम बंगाल में हिंसा के बीच राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी ने बुधवार को सर्वदलीय बैठक बुलाई थी। बैठक में टीएमसी, बीजेपी, कांग्रेस के साथ ही वाम दलों को भी आमंत्रण दिया गया था। हालांकि सीएम ममता बनर्जी ने बैठक में शामिल होने से इनकार कर दिया था। ममता का कहना था कि कानून व्यवस्था राज्य सरकार का विषय है। इससे राज्यपाल का कोई लेना देना नहीं है।


Web Title : Violence continues after Lok Sabha elections

जरूर देखिये