भोपाल गैंगरेप में कब क्या हुआ ? जाने पूरी वारदात

Reported By: Pushpraj Sisodiya, Edited By: Pushpraj Sisodiya

Published on 03 Nov 2017 05:18 PM, Updated On 03 Nov 2017 05:18 PM

भोपाल शहर एक और गैंगरेप की और वारदात से सिहर उठा है. 31 अक्टूबर मंगलवार के दिन UPSC की कोचिंग करने वाली छात्रा के साथ चार वहशियों ने गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया.

ये भी पढ़ें- भोपाल गैंगरेप पीड़िता की जुबानी वहशियत की कहानी

 

कब क्या हुआ, जाने पूरी वारदात

दिनांक- 31 अक्टूबर- दिन- मंगलवार को जब पीड़ित छात्रा कोचिंग से निकलकर भोपाल रेलवे स्टेशन जा रही थी. रेलवे ट्रैक पर चलते छात्रा के सामने नशे में धुत दो वहशी सामने आ खड़े हो गए. दोनों वहशी ने पीड़ित छात्रा को रेलवे ट्रैक के ठीक नीचे स्थित पुल में ले गए, जहां दोनों ने छात्रा के साथ बारी-बारी से रेप किया.

ये भी पढ़ें- भोपाल गैंगरेप केस में SIT गठित, फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई

फिर आरोपी थोड़ी देर बाद बाहर जाकर दो और युवकों को ले आए, फिर चारों आरोपियों ने करीब 4 घंटे तक बारी-बारी से पीड़ित छात्रा से अपनी हवस की भूख मिटाई, छात्रा के बेहोश होने पर ही आरोपी उसको वहीं छोड़कर भाग निकले. 

 

होश आया तो छात्रा निर्वस्त्र पड़ी थी. जैसे-तैसे वो अपने घरवालों को पूरी वारदात की जानकारी दी, परिजन भोपाल पहुंचकर एमपी नगर थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाने गए, तो पुलिस ने उनको वहां से भगा दिया. और हबीबगंज थाने जाने को कह दिया.

ये भी पढ़ें- मध्यप्रदेश : रिश्वत के फेर में उलझा मासूम दिव्यांग का पेंशनकार्ड 

इसके बाद परिजन हबीबगंज थाना पहुंचे लेकिन यहां की पुलिस ने भी रेप केस दर्ज नहीं किया और GRP थाना जाने को कहा. पुलिस की संवेदनहीनता झेलते हुए परिजन GRP थाना पहुंचे जहां GRP ने चारों हैवानों के खिलाफ केस दर्ज किया. वहीं लापरवाही बरतने वाले तीन पुलिसवालों को सस्पेंड कर दिया गया.

ये भी पढ़ें- भोपाल में रेलवे ट्रैक पर UPSC की छात्रा से गैंगरेप

छात्रा से गैंगरेप मामले में हबीबगंज-टीआई, एमपी नगर थाना-संजय सिंह बैस और जीआरपी टीआई मोहित सक्सेना को लापरवाही बरतने के आरोप में सस्पेंड किया गया. वहीं हबीबगंज सीएसपी और एमपी नगर सीएसपी को हटाया गया.

 

ये भी पढ़ें- 10 साल से कम उम्र की बच्ची से रेप पर होगी फांसी की सज़ा

इसके बाद DIG क्राइम अगेंस्ट वीमेन सुधीर ला को मामले के जांच की जिम्मेदारी दी गई. टीआई हेमंत श्रीवास्तव को इस मामले का इंचार्ज बनाया गया है.

 

DIG सुधीर लाड इस मामले की हर रोज समीक्षा करेंगे. मामले में तीन आरोपी गिरफ्तार कर लिए गए हैं. चौथे आरोपी को संदेह के आधार में हिरासत में रखकर पूछताछ जारी है. 

 

हमारे कमेंट्स बॉक्स में अपनी प्रतिक्रिया देकर आप हमें मार्गदर्शित कर सकते हैं

 

वेब डेस्क, IBC24

Web Title : When did Bhopal gangrape happen? Know the whole case

जरूर देखिये