Women suicide against encroachment | तोड़ूदस्ता ने तोड़ा बुजुर्ग का घर, विरोध में महिला ने केरोसीन पीकर दे दी जान, नायब तहसीलदार और अन्य कर्मियोें के खिलाफ शिकायत दर्ज

तोड़ूदस्ता ने तोड़ा बुजुर्ग का घर, विरोध में महिला ने केरोसीन पीकर दे दी जान, नायब तहसीलदार और अन्य कर्मियोें के खिलाफ शिकायत दर्ज

Reported By: Subhash Saheb, Edited By: Abhishek Mishra

Published on 09 Jun 2019 12:44 PM, Updated On 09 Jun 2019 12:44 PM

धमतरी। जिले में अतिक्रमण की कार्रवाई से क्षुब्ध एक आदिवासी महिला ने केरोसीन पीकर आत्महत्या कर ली। वहीं इस घटना के बाद से इलाके में सनसनी फैल गई है।  छाती गांव में 8 जून को घास जमीन से अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई के लिए नायब तहसीलदार और कर्मचारी सहित तोड़ूदस्ता की टीम पहुंची हुई थी। घर तोड़ने से नाराज गांव की एक आदिवासी महिला हितामिन बाई कंवर ने अतिक्रमण का विरोध किया।

पढ़ें- उच्च शिक्षा मंत्री ने दिए संकेत, जल्द भरे जाएंगे समस्त श्रेणी के खाली पद... द...

लेकिन टीम ने उनकी एक नहीं सुनी, जिसके बाद कार्रवाई से क्षुब्ध होकर महिला ने घर में रखे केरोसीन को पीली। महिला की हालत बिगड़ता देख उसे कुरूद ले जाया गया। यहां तबियत बिगड़ने पर उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां इलाज के दौरान महिला ने दम तोड़ दिया। परिजनों का कहना है कि वे घास जमीन पर तकरीबन 10 सालों से निवास कर रह रहे हैं।

पढ़ें- NSUI और AVBP के बीच जमकर विवाद, जानिए क्या है मामला

मामला कोर्ट में भी चल रहा है लेकिन हर बार उन्हें नोटिस भेजकर परेशान किया जा रहा था, जबकि गांव में 200 से ज्यादा परिवार आबादी जमीन पर कब्जा कर रह रहे हैं। उन पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। परिजनो ने नायब तहसीलदार सहित अन्य कर्मचारियों के खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज कराई है। वहीं प्रशासन न्यायालीन प्रक्रिया के तहत कार्रवाई किए जाने की बात कह रहा है।

हिट स्ट्रोक से गई कई बंदरों की जान.. देखिए

Web Title : Women suicide against encroachment

जरूर देखिये