एक्शन में कार्यकारी कांग्रेस अध्यक्ष, पुलिस और अस्पताल प्रशासन की ले ली क्लास.. देखिए

 Edited By: Abhishek Mishra

Published on 20 Jul 2019 12:48 PM, Updated On 20 Jul 2019 12:32 PM

मुंबई। महाराष्ट्र कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष यशोमती ठाकुर और पुलिस के बीच सेंट जॉर्ज अस्पताल में जमकर बहस हो गई। यशोमती ठाकुर अस्पताल में भर्ती कर्नाटक के कांग्रेस विधायक श्रीमंत पाटिल को देखने पहुंची थीं। दोनों के बीच जमकर नोकझोंक हुई। यशोमती ने आरोप लगाया कि जब अस्पताल में दिल की बीमारी के इलाज की सुविधा ही नहीं है, तो विधायक का इलाज कैसे चल रहा है? उन्होंने अस्पताल प्रशासन से यह भी कहा कि मैं विधायक से मिलना चाहती हूं लेकिन मुझे मिलने क्यों नहीं दिया जा रहा।

देखें वीडियो-

पढ़ें- जेल में बंद शिक्षाकर्मी की मौत मामले में 15 लाख मुआ.

बता दें कि कांग्रेस ने आरोप लगाया था कि उसके विधायक श्रीमंत पाटिल को गठबंधन सरकार गिराने के प्रयासों के तहत अगवा कर लिया गया है। बेंगलूरू पुलिस को इस बात की शिकायत भी दर्ज कराई थी। कांग्रेस ने कहा कि पार्टी विधायकों के साथ एक रिजॉर्ट में होने के बाद पाटिल अचानक गायब हो गए और उसके बाद से वह किसी से संपर्क में नहीं हैं।

पढ़ें- अभनपुर नगर पंचायत को बम से उड़ाने की धमकी, मेल भेजकर कहा- सीएमओ समेत सभी कर्मियों को जान से मार दूंगा

विधानसभा में जब मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के विश्वास प्रस्ताव पर चर्चा शुरू हुई तब वरिष्ठ नेता डी के शिवकुमार ने आरोप लगाया कि पाटिल को अगवा करके मुंबई के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पाटिल का एक फोटोग्राफ सामने आया है जिसमें वह एक अस्पताल में लेटे और ईसीजी से जुड़ी जांच कराते दिख रहे हैं। इस मुद्दे को उठाते हुए शिवकुमार ने कहा, ‘मैं हाथ जोड़ कर अध्यक्ष से अपील करता हूं कि मेरे पार्टी के विधायकों को अगवा किया गया है। मुझे परिजन का कॉल आया था। महोदय मैं चाहता हूं कि आप उन्हें वापस लाएं। हम पुलिस संरक्षण चाहते हैं।

पढ़ें- शिक्षकों में तबादला आदेश से हड़कंप, 13 जुलाई से जारी निर्देश की जानकारी शुक्रवार को मिली

शिक्षाकर्मियों की नियुक्ति निरस्त करने के आदेश

 

Web Title : Yashomati Thakur&police at St George’s Hospital where she tried to meet K'taka Congress MLA Shrimant PatiL

जरूर देखिये