शंकर के अलावा एएफआई ने राष्ट्रमंडल खेलों के लिए आईओए को बर्मन, बुगथा, थापा और झिलना का नाम भेजा |

शंकर के अलावा एएफआई ने राष्ट्रमंडल खेलों के लिए आईओए को बर्मन, बुगथा, थापा और झिलना का नाम भेजा

शंकर के अलावा एएफआई ने राष्ट्रमंडल खेलों के लिए आईओए को बर्मन, बुगथा, थापा और झिलना का नाम भेजा

: , June 24, 2022 / 09:57 PM IST

नयी दिल्ली, 24 जून (भाषा) ऊंची कूद खिलाड़ी तेजस्विन शंकर की दिल्ली उच्च न्यायालय में ‘रिट’ याचिका के कारण राष्ट्रीय महासंघ ने चार और एथलीट के नाम भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) को भेजे हैं जिसे खिलाड़ियों के आवंटित कोटे को बढ़ाने के बारे में फैसला करना है।

 राष्ट्रीय रिकॉर्ड धारक शंकर की याचिका पर सुनवाई के दौरान भारतीय एथलेटिक्स महासंघ (एएफआई) ने अदालत को सूचित किया कि उसकी चयन समिति ने आईओए को शंकर सहित पांच खिलाड़ियों के नाम भेजे हैं लेकिन उनका चयन आईओए के कोटा बढ़ाने के बाद ही संभव है। आईओए ने एएफआई के लिए 36 खिलाड़ियों का कोटा तय किया है।

शंकर के अलावा चार अन्य खिलाड़ियों में एशियाई खेलों की स्वर्ण पदक विजेता हेप्टाथलीट स्वप्ना बर्मन, मैराथन धावक श्रीनु बुगाथा तथा अनीश थापा और चार गुणा 100 मीटर रिले स्पर्धा के  जिलाना एमवी हैं।

जिलाना को मूल रूप से 16 जून को घोषित 37 सदस्यीय टीम में चार गुणा 100 मीटर रिले धावक के रूप में नामित किया गया था, लेकिन बाद में 36 आवंटित कोटे के कारण उनका नाम वापस ले लिया गया था।

यह देखना होगा कि आईओए एथलेटिक्स टीम का कोटा बढ़ाने के एएफआई के अनुरोध के संबंध में चार जुलाई को उच्च न्यायालय को क्या बताता है। खेलों के शुरू होने में एक महीने से भी कम का समय बचा है और ऐसे में एथलेटिक्स टीम का कोटा बढ़ाना एक मुश्किल स्थिति हो सकती है। आईओए ने अब तक प्रत्येक खेल में भारतीय प्रतिभागियों की संख्या तय कर ली होगी।

आईओए के लिए राष्ट्रमंडल खेलों के आयोजकों को भारतीय टीम की जानकारी जमा करने की समय सीमा 30 जून है। ऐसे में आईओए को बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों के आयोजकों से अंतिम समय में भारत का कोटा बढ़ाने का अनुरोध करना पड़ सकता है ।

इस मामले से जुड़े एक अधिकारी ने कहा, ‘‘ हमें इंतजार करना होगा और देखना होगा कि आईओए अगली सुनवाई में अदालत से क्या कहता है।’’

उच्च न्यायालय ने शुक्रवार को उम्मीद जताई कि आईओए बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों के लिए भारतीय दल में एथलेटिक्स टीम का कोटा बढ़ायेगा। लेकिन साथ ही उसने यह भी साफ कर दिया कि अगर कोटा नहीं बढ़ाया गया तो वह आईओए को इसे बढ़ाने का निर्देश नहीं दे सकता।

एएफआई ने अंतरराज्यीय सीनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप में भाग नहीं लेने के कारण शंकर को राष्ट्रमंडल खेलों के लिए अयोग्य करार दिया था लेकिन उन्होंने उसी समय अमेरिका में राष्ट्रीय कॉलेजिएट एथलेटिक संघ चैम्पियनशिप में क्वालीफाइंग मानक हासिल कर लिया था।

उन्होंने 10 जून को 2.27 मीटर के प्रयास से इसमें स्वर्ण पदक जीता था, जो एएफआई द्वारा निर्धारित क्वालीफाइंग मानक है।

बर्मन, बुगाथा और थापा ने भी अपनी-अपनी स्पर्धाओं में एएफआई के राष्ट्रमंडल खेलों के क्वालीफाइंग मानकों को भी पार कर लिया है।

भाषा आनन्द नमिता

नमिता

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

#HarGharTiranga