ईरान सहित पांच देशों ने अगले साल भारत में होने वाले महिला एशियाई कप के लिए क्वालीफाई किया |

ईरान सहित पांच देशों ने अगले साल भारत में होने वाले महिला एशियाई कप के लिए क्वालीफाई किया

ईरान सहित पांच देशों ने अगले साल भारत में होने वाले महिला एशियाई कप के लिए क्वालीफाई किया

: , September 28, 2021 / 04:29 PM IST

नयी दिल्ली, 28 सितंबर (भाषा) इंडोनेशिया और पदार्पण कर रहे ईरान सहित पांच देशों ने अगले साल जनवरी-फरवरी में भारत में होने वाले एएफसी महिला एशियाई कप फुटबॉल टूर्नामेंट के लिए क्वालीफाई कर लिया है।

इंडोनेशिया ने ताजिकिस्तान के दुशांबे में चल रहे क्वालीफिकेशन टूर्नामेंट के ग्रुप सी में सोमवार को शीर्ष स्थान हासिल करके पांचवीं बार टूर्नामेंट में जगह बनाई जबकि ईरान ने पहली बार क्वालीफाइंग में हिस्सा लेते हुए ग्रुप जी में शीर्ष स्थान हासिल किया।

पूर्व चैंपियन थाईलैंड, दक्षिण कोरिया और फिलिपीन्स ने भी 12 टीमों की इस शीर्ष महाद्वीपीय महिला प्रतियोगिता के लिए क्वालीफाई किया जिसका आयोजन 1979 के बाद दूसरी बार भारत में हो रहा है।

यह टूर्नामेंट आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में होने वाले 2023 फीफा महिला विश्व कप के एशियाई क्वालीफिकेशन का अंतिम चरण भी होगा। टूर्नामेंट का आयोजन मुंबई, नवी मुंबई और पुणे में 20 जनवरी से छह फरवरी तक किया जाएगा।

ग्रुप ई में शीर्ष पर रही दक्षिण कोरिया की टीम 13वीं बार इस टूर्नामेंट में हिस्सा लेगी। टीम ने 2003 में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए तीसरा स्थान हासिल किया था।

फिलिपीन्स ने ग्रुप एफ में शीर्ष पर रहते हुए 10वीं बार टूर्नामेंट में जगह बनाई।

वर्ष 1983 के चैंपियन थाईलैंड ने ग्रुप एच में शीर्ष पर रहते हुए 17वीं बार टूर्नामेंट के लिए क्वालीफाई किया।

तीन अन्य टीमें ग्रुप ए, बी और डी की विजेता होंगी। भारत को मेजबान होने के नाते स्वत: क्वालीफिकेशन मिला है। भारत नौवीं बार इस टूर्नामेंट में हिस्सा लेगा।

जापान, आस्ट्रेलिया और चीन 2018 में हुए पिछले टूर्नामेंट के क्रमश: विजेता, उप विजेता और तीसरे स्थान की टीम के रूप में पहले ही टूर्नामेंट के लिए क्वालीफाई कर चुके हैं।

टूर्नामेंट का आयोजन पहले अहमदाबाद, भुवनेश्वर और नवी मुंबई में होना था लेकिन कोविड-19 महामारी को देखते हुए आयोजन स्थलों में बदलाव किया गया।

अहमदाबाद और भुवनेश्वर को मेजबान की सूची से हटाया गया और उसकी जगह मुंबई और पुणे को जोड़ा गया जिससे कि टीमों को कम से कम यात्रा करनी पड़े।

भाषा सुधीर मोना

मोना

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

#HarGharTiranga