किरण नवगिरे का अर्धशतक, हार के बावजूद वेलोसिटी पहुंची फाइनल में

किरण नवगिरे का अर्धशतक, हार के बावजूद वेलोसिटी पहुंची फाइनल में

: , May 26, 2022 / 11:19 PM IST

पुणे, 26 मई (भाषा) महाराष्ट्र की आल राउंडर किरण नवगिरे (69 रन) के अर्धशतक की बदौलत वेलोसिटी ने गुरूवार को यहां महिला टी20 चैलेंज मुकाबले में गत चैम्पियन ट्रेलब्लेजर्स से 16 रन हारने के बावजूद बेहतर रन रेट से 28 मई को होने वाले फाइनल के लिये क्वालीफाई किया, जिसमें उसका सामना सुपरनोवाज से होगा।

ट्रेलब्लेजर्स के लिये सलामी बल्लेबाज एस मेघना (73 रन) और जेमिमा रॉड्रिग्स (66 रन) के अर्धशतक भी टीम को फाइनल तक पहुंचाने के लिये काम नहीं आ सके। टीम ने दोनों के बीच दूसरे विकेट के लिये 113 रन की साझेदारी से वेलोसिटी को जीत के लिये 191 रन का विशाल लक्ष्य दिया।

वेलोसिटी किरण (34 गेंद, पांच चौके, पांच छक्के) के अर्धशतक के बावजूद नौ विकेट पर 174 रन ही बना सकी। पर टीम इस स्कोर से फाइनल में पहुंच गयी क्योंकि उसे फाइनल के लिये क्वालीफाई करने के लिये कम से कम 159 रन बनाने की जरूरत थी।

ट्रेलब्लेजर्स को फाइनल में जगह सुनिश्चित करने के लिये कम से कम 32 या उससे ज्यादा रन से जीत की दरकार थी लेकिन ऐसा नहीं हो सका।

वेलोसिटी के लिये किरण के अलावा सलामी बल्लेबाज शेफाली वर्मा ने 29 रन और लौरा वोलवार्ट ने 17 रन का योगदान दिया।

ट्रेलब्लेजर्स के लिये राजेश्वरी गायकवाड़ और पूनम यादव ने दो दो विकेट अपने नाम किये जबकि रेणुका सिंह, हेली मैथ्यूज, सलमा खातून और सोफिया डंकले को एक एक विकेट मिला।

वेलोसिटी ने भी तेज शुरूआत करते हुए तीन ओवर में 32 रन जड़ दिये थे। पर अगले दो ओवर में दो विकेट गंवा दिये। चौथे ओवर में यास्तिका भाटिया (19 रन, तीन चौके) और पांचवें ओवर में शेफाली वर्मा (15 गेंद, पांच चौके) के विकेट खो दिये।

पांच ओवर में वेलोसिटी का स्कोर दो विकेट पर 50 रन था।

किरण नवगिरे ने छठे ओवर में सलमा खातून पर दो छक्के और एक चौके से टीम के खाते में 18 रन जोड़े।

वेलोसिटी ने 10 ओवर में दो विकेट पर 105 रन बना लिये थे जिससे 60 गेंद में उसे 86 रन बनाने की जरूरत थी।

पूनम रावत ने फिर लौरा वोलवार्ट (17) को विकेटकीपर के हाथों कैच आउट कराकर टीम को तीसरा विकेट दिलाया।

कप्तान दीप्ति शर्मा केवल तीन गेंद ही खेल सकीं और राजेश्वरी गायकवाड़ का दूसरा शिकार बनीं।

फिर किरण नवगिरे ने 14वें ओवर में लगातार छक्के जड़े, उन्होंने पहला छक्का जड़कर से 25 गेंद में चार चौके, चार छक्के से अपना अर्धशतक भी पूरा किया।

ऐसा लग रहा था कि मैच ट्रेलब्लेजर्स के हाथों से निकल रहा था लेकिन उसकी गेंदबाजों ने जल्दी जल्दी कुछ विकेट झटककर वेलोसिटी को जीत तक नहीं पहुंचने दिया। पर इस जीत का भी ट्रेलब्लेजर्स को कोई फायदा नहीं हुआ।

इससे पहले मेघना (47 गेंद, सात चौके, चार चौके) और जेमिमा (44 गेंद, सात चौके, एक छक्का) की शानदार आक्रामक पारियों के अलावा पांच विकेट पर 190 रन के इस स्कोर में वेलोसिटी के खराब क्षेत्ररक्षण का भी योगदान रहा जिसकी खिलाड़ियों ने कई आसान कैच टपकाये।

ट्रेलब्लेजर्स के लिये हेली मैथ्यूज ने 27 रन (16 गेंद, चार चौके) और सोफिया डंकले ने आठ गेंद में दो चौके और एक छक्के से 19 रन का योगदान दिया।

बल्लेबाजी का न्यौता मिलने के बाद मेघना ने पहले ही ओवर में केट क्रास (तीन ओवर में 27 रन देकर एक विकेट) पर लगातार दो चौके जमाकर अच्छी शुरूआत करायी।

पर ट्रेलब्जेजर्स को पहला झटका 13 रन के स्कोर पर कप्तान स्मृति मंधाना (01) के विकेट के रूप में लगा जो तीसरे ही ओवर में क्रास की गेंद पर सिमरन बहादुर (तीन ओवर में 31 रन देकर दो विकेट) को कैच देकर आउट हो गयीं।

पर इसके बाद एस मेघना ने आक्रामक बल्लेबाजी की और जेमिमा के साथ मिलकर शतकीय साझेदारी बनाकर बड़े स्कोर की नींव रखी।

मेघना ने राधा यादव पर एक्सट्रा कवर के ऊपर और साइट स्क्रीन पर दो छक्के जड़े। उन्होंने शेफाली वर्मा पर उनके सिर के ऊपर से अपनी पारी का तीसरा छक्का जड़ा।

जेमिमा भी मेघना का अच्छा साथ निभाकर आक्रामक बल्लेबाजी करती रहीं और इस दौरान दोनों ने अपने अर्धशतक पूरे किये।

मेघना ने 32 गेंद में छह चौके और दो छक्के से अर्धशतक जमाया। फिर उन्होंने 13वें ओवर में शेफाली वर्मा की पहली गेंद को छक्के के लिये भेजकर ट्रेलब्लेजर्स के स्कोर का शतक भी पूरा कराया।

जेमिमा ने भी इसके बाद 36 गेंद में छह चौकों से अपना पचासा जड़ दिया।

वेलोसिटी के लिये विकेट का इंतजार स्नेह राणा (37 रन देकर एक विकेट) ने खत्म किया। 15वें ओवर में राणा की पहली गेंद को छक्के और दूसरी को चौके के लिये भेजने के बाद मेघना की पारी खत्म हुई। मेघना उनकी गेंद को ऊपर खेलने के प्रयास में सीमा रेखा पर क्रास के हाथों कैच आउट हो गयी।

जल्द ही जेमिमा भी पवेलियन पहुंच गयी, 17वें ओवर में अयाबोंगा खाका की गेंद को स्वीप करने की कोशिश में वह शार्ट फाइन लेग पर राणा को कैच दे बैठीं।

अंतिम ओवर में सिमरन बहादुर ने सोफिया और हेली के रूप में दो विकेट झटके।

भाषा

नमिता

नमिता

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)