Arshdeep on bhuvi

न्यूजीलैंड के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन करने वाले अर्शदीप ने भुवनेश्वर कुमार और शमी को लेकर कही ये बात…

Arshdeep on bhuvi अर्शदीप ने कहा, भुवी जैसे सीनियर खिलाड़ियों से सीखे गुर से मदद मिली

Edited By: , November 23, 2022 / 07:37 PM IST

Arshdeep on bhuvi: नेपियर। भारत के बाएं हाथ के युवा तेज गेंदबाज अर्शदीप सिंह ने कहा है कि उन्होंने भुवनेश्वर कुमार जैसे सीनियर खिलाड़ियों से जो गुर सीखे हैं उससे उन्हें अपनी गेंदबाजी में विविधता लाने में मदद मिली। अर्शदीप ने मंगलवार को बारिश से प्रभावित तीसरे टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में न्यूजीलैंड के खिलाफ 37 रन देकर चार विकेट चटकाते हुए करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। डकवर्थ-लुईस पद्धति के तहत यह मुकाबला टाई रहा। जिसके बाद अर्शदीप ने बताया कि ‘‘मैं हमेशा टीम के सीनियर गेंदबाजों से सीखने की कोशिश करता हूं, जैसे मैं आपसे ‘हार्ड लेंथ’ पर गेंदबाजी और भुवी भाई (भुवनेश्वर कुमार) से ‘नकल बॉल’ तथा ‘यॉर्कर’ (मोहम्मद) शमी भाई से सीख रहा हूं।’’

Arshdeep on bhuvi: उन्होंने कहा, ‘‘मैं हमेशा खुद को प्रतिदिन बेहतर बनाने की कोशिश करता हूं और जब भी जरूरत होती है टीम के लिए योगदान देता हूं और उम्मीद करता हूं कि जिम्मेदारी लेकर अच्छा प्रदर्शन करूं।’’ अर्शदीप 19वें ओवर की पहली दो गेंदों में डेरिल मिशेल और ईश सोढ़ी को आउट करने के बाद हैट्रिक लेने के करीब थे लेकिन अंत में यह उपलब्धि हासिल करने में नाकाम रहे। न्यूजीलैंड ने अगली गेंद पर एडम मिल्ने का विकेट गंवाया लेकिन वह सिराज के बैकवर्ड प्वाइंट से सटीक थ्रो पर रन आउट हुए। अर्शदीप ने कहा, ‘‘मैंने सोचा भी था कि मैं हैट्रिक ले सकता हूं या पांच विकेट ले सकता हूं लेकिन आपने रन आउट किया और टीम की हैट्रिक की। सीनियर्स ने विरोधी बल्लेबाजी को छकाने के लिए मुझे लेंथ गेंद और धीमी गेंद फेंकने की सलाह दी।’’

Arshdeep on bhuvi: मंगलवार को सिराज ने भी करियर की सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी करते हुए 17 रन देकर चार विकेट चटकाए। उन्होंने कहा कि उन्होंने हार्ड लेंथ (शॉर्ट पिच और लेंथ गेंद के बीच की गेंद जिस पर शॉट खेलना आसान नहीं होता) की गेंद फेंकने की योजना बनाई थी जिसका फायदा मिला। सिराज ने कहा, ‘‘देश के लिए इस तरह का प्रदर्शन करना बहुत अच्छा लगता है। मैं लंबे समय से हार्ड लेंथ से गेंदबाजी करने के लिए खुद को तैयार कर रहा हूं। यहां हार्ड लेंथ से गेंदबाजी करना आसान नहीं था। मेरी योजना सामान्य सी थी, हार्ड लेंथ गेंदबाजी करना।’’ उन्होंने कहा, ‘‘भारत का प्रतिनिधित्व करना पूरी तरह से एक अलग अहसास है। टी20 में मेरा लक्ष्य विकेट लेना है लेकिन मैं हमेशा कम रन देने की कोशिश करता हूं।’’

IBC24 की अन्य बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें