क्वार्टर फाइनल में पहुचने के लिए फ्रांस के सामने पोलैंड की चुनौती |

क्वार्टर फाइनल में पहुचने के लिए फ्रांस के सामने पोलैंड की चुनौती

क्वार्टर फाइनल में पहुचने के लिए फ्रांस के सामने पोलैंड की चुनौती

: , December 3, 2022 / 10:27 PM IST

दोहा, तीन दिसंबर (एपी) मौजूदा विश्व चैम्पियन फ्रांस की टीम फुटबॉल विश्व कप के प्री-क्वार्टर फाइनल में रविवार को जब पोलैंड के खिलाफ मैदान में उतरेगी तो उसकी कोशिश अतिआत्मविश्वास से बचने की होगी।

फ्रांस के कोच कोच डिडिएर डेसचैम्प्स अपनी टीम के खिलाड़ियों को पोलैंड और उनके दिग्गज खिलाड़ी रॉबर्ट लेवांडोव्स्की को कम नहीं आंकने की चेतावनी दे चुके।

टीम को ग्रुप चरण के आखिरी मुकाबले में ट्यूनीशिया जैसी अपेक्षाकृत कमजोर मानी जाने वाली टीम के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था। इस मैच में हालांकि डेसचैम्प्स ने अपने स्टार खिलाड़ियों को विश्राम दिया था। एड्रिएन रैबियोट, किलियन एमबापे, ओस्मान डेम्बेले और एंटोनी ग्रीजमैन जैसे टीम के धुरंधर मैच के आखिरी क्षणों में मैदान में उतरे थे।

ऐसे में फ्रांस के शीर्ष खिलाड़ी कम थकान के साथ इस मैच में उतरेंगे और पोलैंड के खिलाफ जीत के दावेदार होंगे।

फ्रांस की टीम 1986 विश्व कप में नॉकआउट चरण शुरू होने के बाद शुरुआती (नॉकआउट) मुकाबले में पांच बार जीती है। पोलैंड की टीम 36 साल में पहली बार नॉकआउट दौर में पहुंची है।

टीम ने 1982 विश्व कप में फ्रांस को हराकर तीसरा स्थान हासिल किया और  इसके 51 दिनों के बाद मैत्री मैच में उनके खिलाफ एक और जीत दर्ज की। पोलैंड की टीम इसके बाद कभी फ्रांस को हराने में सफल नहीं हुई। टीम विश्व कप में फ्रांस को मात देकर 40 साल के जीत के इंतजार को खत्म करना चाहेगी।

दोनों टीमों के बीच पिछला मुकाबला  2011 में खेला गया था।

फ्रांस के कोच ने कहा, ‘‘ यह ऐसी टीम नहीं है जिसके खिलाफ हम खेलने के आदी हैं। उनके पास अनुभवी खिलाड़ी हैं। अगर कोई एक नाम सबसे अलग है, तो वह लेवांडोव्स्की है, वह दुनिया के सर्वश्रेष्ठ स्ट्राइकरों में से एक है। लेकिन टीम में और भी बेहतरीन खिलाड़ी है।’’

पोलैंड की सबसे बड़ी मजबूती उसके गोलकीपर वोज्शिएक स्जेसनी है। स्जेसनी ने सऊदी अरब और अर्जेंटीना के खिलाफ पेनल्टी का शानदार बचाव किया। अर्जेंटीना के खिलाफ वह महान लियोनेल मेसी की किक को रोकने में सफल रहे।  इस टूर्नामेंट में उन्होंने 18 गोल बचाये है, जो किसी भी अन्य गोलकीपर से अधिक हैं।

लेवांडोव्स्की ने कहा कि फ्रांस के खिलाफ मुकाबला मुश्किल होगा लेकिन टीम पूरा जोर लगायेगी।

उन्होंने कहा, ‘‘अंतिम 16 के दौर में पहुंचना हमारे लिए एक बड़ी उपलब्धि है। यह फ्रांस के खिलाफ मुश्किल होगा, हमें ध्यान केंद्रित रहने की आवश्यकता होगी।

एपी आनन्द नमिता

नमिता

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)