लखनऊ को हराकर तालिका में दूसरे स्थान पर पहुंचा राजस्थान

लखनऊ को हराकर तालिका में दूसरे स्थान पर पहुंचा राजस्थान

: , May 15, 2022 / 11:48 PM IST

मुंबई, 15 मई (भाषा) सलामी बल्लेबाज यशस्वी जायसवाल (41) के साथ कप्तान संजू सैमसन (32) और देवदत्त पडिक्कल (39) की उपयोगी पारियों के बाद गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन से राजस्थान रॉयल्स ने इंडियन प्रीमियर लीग मैच में रविवार को यहां लखनऊ सुपर जायंट्स को 24 रन से शिकस्त दी।

इस जीत के साथ ही राजस्थान की टीम 16 अंक के साथ तालिका में दूसरे स्थान पर पहुंच गयी। टीम की 13 मैचों में यह आठवीं जीत है। लखनऊ के भी 16 अंक है लेकिन बेहतर नेट रनरेट के कारण राजस्थान की टीम दूसरे स्थान पर आ गयी है।

राजस्थान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए छह विकेट पर 178 रन बनाने के बाद लखनऊ को आठ विकेट पर 154 रन पर रोक दिया।

लखनऊ के लिए दीपक हुड्डा ने 39 गेंद में 59 रन बनाये लेकिन कृणाल पंड्या (23 गेंद में 25 रन) के अलावा उन्हें और किसी का साथ नहीं मिला। आखिरी ओवरों में मार्कस स्टोइनिस ने 17 गेंद में 27 रन बनाये।

राजस्थान के लिए ट्रेंट बोल्ट, प्रसिद्ध कृष्णा और ओबेद मकॉय ने दो-दो तो वहीं रविचंद्रन अश्विन और युजवेन्द्र चहल ने एक-एक विकेट लिये। बोल्ट ने चार ओवर में महज 18 जबकि अश्विन ने इतने ही ओवर में सिर्फ 24 रन दिये।

इससे पहले जायसवाल ने 29 गेंद की पारी छह चौके और एक छक्का लगाने के साथ दूसरे विकेट लिए सैमसन के साथ 64 रन की अहम साझेदारी की। सैमसन ने 24 गेंद की पारी में छह चौके लगाये।

पडिक्कल ने 18 गेंद की आक्रामक पारी में पांच चौके और दो छक्के जड़े। आखिरी ओवरों में बोल्ट (नाबाद 17) ने अश्विन (नाबाद 10) के साथ 14 गेंद में 26 रन की अटूट साझेदारी कर टीम के स्कोर को 178 तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई।

लखनऊ के लिए रवि बिश्नोई ने दो जबकि आवेश खान, जेसन होल्डर और आयुष बडोनी ने एक-एक विकेट लिये।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी लखनऊ को तीसरे ओवर में ट्रेंट बोल्ट ने लगातार गेंदों पर क्विंटन डिकॉक (सात) और आयुष बडोनी (शून्य) को चलता कर राजस्थान को शानदार शुरुआत दिलायी।

हुड्डा ने हालांकि क्रीज पर कदम रखते ही चौका लगाकर शानदार लय में होने का परिचय दिया।

लखनऊ के कप्तान लोकेश राहुल (10 रन) ने छठे ओवर में प्रसिद्ध कृष्णा के खिलाफ छक्का जड़ा लेकिन जायसवाल ने इसी ओवर में प्वाइंट पर उनका शानदार कैच लपका।

क्रीज पर आये कृणाल ने इसी ओवर में चौका जड़ा और फिर युजवेन्द्र चहल के खिलाफ छक्का लगाया।

हुड्डा ने 11वें ओवर में चहल की पहली दो गेंदों पर छक्का और चौका लगाकर जरुरी रनगति को कम करने की कोशिश की लेकिन अश्विन ने 14वें ओवर में कृणाल को रियान पराग के हाथों कैच कराकर चौथे विकेट के लिए 65 रन की साझेदारी को तोड दिया।

हुड्डा ने 16वें ओवर में चहल के खिलाफ चौका जड़ा लेकिन इसी ओवर में सैमसन ने उन्हें स्टंप कर राजस्थान को बड़ी सफलता दिलायी।

ओबेद मैकॉय ने 17वें ओवर में होलडर (एक) और दुश्मंता चमीरा ( शून्य) को आउट कर दो विकेट लिये।

स्टॉइनिस ने 18वें ओवर की आखिरी गेंद पर चहल के खिलाफ छक्का जड़ा। उन्होंने और मोहसिन खान ने 19वें ओवर में एक-एक चौका जड़ा जिससे आखिरी ओवर में टीम को जीत के लिए 34 रन चाहिये थे।

आखिरी ओवर में प्रसिद्ध कृष्णा की पहली गेंद पर स्टोइनिस ने छक्का जड़ा लेकिन दूसरी गेंद पर उनके आउट होते ही मैच राजस्थान के नाम हो गया।

राजस्थान के इससे पहले टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला करने के बाद जायसवाल ने पहले ओवर में ही मोहसिन खान के खिलाफ लगातार दो चौके लगाकर अपने इरादे जता दिये। तीसरे ओवर में गेंदबाजी के लिए आये आवेश खान ने दूसरी गेंद पर शानदार लय में चल रहे जोस बटलर (दो रन) को बोल्ड कर लखनऊ को बड़ी सफलता दिलायी।

अगली ही गेंद पर सैमसन ने चौका जड़कर अपना खाता खोला। उन्होंने अगले ओवर में गेंदबाजी के लिए आये मोहसिन के खिलाफ भी दो चौके जड़े।

जायसवाल ने छठे ओवर में गेंदबाजी के लिए आये दुश्मंता चमीरा के खिलाफ तीन चौके और एक छक्का लगाया। इस ओवर से 21 रन बने जिससे टीम का स्कोर एक विकेट पर 51 रन हो गया।

सैमसन एक बार फिर अच्छी शुरुआत को बड़ी पारी में बदलने में नाकाम रहे। जेसन होल्डर की गेंद पर बड़ा शॉट लगाने के चक्कर में उन्होंने दीपक हुड्डा को कैच थमा दिया।

शानदार लय में चल रहे पडिक्कल ने इसके बाद स्टोइनिस के ओवर में दो चौके और एक छक्का लगाया। उन्होंने 11वें ओवर में चमीरा के खिलाफ भी दो चौके जड़े जिससे टीम ने रनों का शतक पूरा किया।

कामचलाऊ गेंदबाज बडोनी ने 12वें ओवर में अपनी गेंद पर जायसवाल का कैच लपक कर टीम को बड़ी सफलता दिलायी।

पडिक्कल ने इसके बाद भी आक्रामक रुख जारी रखते हुए कृणाल के खिलाफ छक्का और फिर बिश्नोई के खिलाफ 14वें ओवर में चौका जड़ा। वह हालांकि इसी ओवर में कृणाल को कैच देकर आउट हो गये।

जिमी नीशम और रियान पराग ने अच्छी शुरुआत की लेकिन बड़ी पारी नहीं खेल सके पराग 16 गेंद में 19 रन बनाकर 18वें ओवर में बिश्नोई का शिकार बने तो वही नीशम 12 गेंद में 14 रन बनाकर इसी ओवर में रन आउट हुए।

बोल्ट ने 19वें ओवर में मोहसिन के खिलाफ दो चौके लगाये जबकि अश्विन ने आवेश के खिलाफ आखिरी ओवर में चौका लगाकर टीम के स्कोर को 180 रन के करीब पहुंचाया।

भाषा आनन्द

आनन्द

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)