ट्रायल्स में जिमनास्ट आशीष की ‘पक्षपात’ की शिकायत के बाद साइ ने जीएफआई से रिपोर्ट मांगी

ट्रायल्स में जिमनास्ट आशीष की ‘पक्षपात’ की शिकायत के बाद साइ ने जीएफआई से रिपोर्ट मांगी

: , May 28, 2022 / 09:35 PM IST

नयी दिल्ली, 28 मई (भाषा) देश के लिये कई अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में पदक जीत चुके जिमनास्ट आशीष कुमार ने टीम चयन ट्रायल्स में ‘पक्षपात’ करने के आरोप लगाये हैं जिसका संज्ञान लेते हुए भारतीय खेल प्राधिकरण (साइ) ने भारतीय जिमनास्टिक्स महासंघ (जीएफआई) से इस मुद्दे पर रिपोर्ट मांगी है।

साइ ने कहा कि अगर जरूरी हुआ तो वह इस मामले की जांच करायेगा।

जीएफआई अध्यक्ष सुधीर मित्तल को लिखे पत्र में आशीष ने कहा कि 11 से 22 मार्च के बीच हुए चयन ट्रायल में उनके साथ ‘नाइंसाफी’ हुई और इसे साइ को भी भेजा।

साइ ने एक बयान में कहा, ‘‘भारतीय जिमनास्ट आशीष कुमार ने भारतीय जिमनास्टिक्स महासंघ को शिकायत में आरोप लगाया कि राष्ट्रमंडल खेलों के लिये टीम चयन के लिये 11 से 22 मार्च तक हुए ट्रायल्स में उन्हें पक्षपात का सामना करना पड़ा। ’’

इस बयान में कहा गया, ‘‘जिमनास्ट ने इस शिकायत की एक प्रति साइ को भी भेजी है। इस मामले पर तुरंत संज्ञान लेते हुए साइ ने इस मुद्दे पर जीएफआई से रिपोर्ट मांगी है। ’’

इसके अनुसार, ‘‘जीएफआई द्वारा रिपोर्ट सौंपने के बाद अगर जरूरी हुआ तो इस मामले में और जांच के लिये एक जांच समिति गठित करेगा। ’’

अर्जुन पुरस्कार से नवाजे जा चुके आशीष ने कहा कि ‘आल राउंड’ रैंकिंग में पांचवें स्थान पर रहने के बावजूद उन्हें नहीं चुना गया जबकि जो जिमनास्ट उनसे नीचे (सातवें और आठवें स्थान) पर रहे थे, उन्हें टीम में शामिल किया गया।

पीटीआई से बात करते हुए आशीष ने कहा, ‘‘जब आप जिमनास्टिक्स में ‘हायर डिफिकलटीज’ में जाते हो तो उतार-चढाव होना लाजमी है। लेकिन हमें उस जिमनास्ट से पदक की उम्मीद भी होती है जो ‘हायर डिफिकलटी’ में होता है। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘ट्रायल्स में जब मैंने अपने ‘डिफिकलटी’ के स्तर को बढ़ाया तो मैं महज एक बार गिरा था। उन्होंने मुझे पांचवें स्थान पर रखा लेकिन जो मुझसे ऊपर थे, वे मुझसे ज्यादा गिरे थे। बल्कि जो जिमनास्ट सातवें और आठवें स्थान पर थे, उन्हें भी टीम में शामिल किया गया लेकिन मैं टीम नहीं था। ’’

आशीष ने कहा, ‘‘मैं किसी पर दोष नहीं मढ़ रहा हूं। मेरा अनुरोध बस यही है कि शीर्ष आठ जिमनास्ट के वीडियो फुटेज का अंतरराष्ट्रीय जज से ‘रिव्यू’ कराया जाये। ट्रायल के दौरान कुछ जज और सदस्य पक्षपातपूर्ण थे। यह ट्रायल निष्पक्ष नहीं था। ’’

आशीष की पिछली प्रतियोगिता जापान में 2021 विश्व चैम्पियनशिप थी लेकिन उन्हें कोहनी की चोट के कारण टूर्नामेंट को बीच में छोड़ना पड़ा था।

उन्होंने कहा, ‘‘मैं अब पूरी तरह उबर गया हूं। मैंने हाल में अखिल भारतीय विभागीय प्रतियोगिता में पदक जीते, इसलिये यह अब बिलकुल ठीक है। ’’

आशीष राष्ट्रमंडल खेलों और एशियाई खेलों में पदक जीत चुके हैं।

भाषा नमिता आनन्द

आनन्द

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)