भाजपा की विभाजनकारी राजनीति के खिलाफ हाथ मिलाना चाहिए: पूर्व राज्यपाल कुरैशी

भाजपा की विभाजनकारी राजनीति के खिलाफ हाथ मिलाना चाहिए: पूर्व राज्यपाल कुरैशी

Edited By: , November 25, 2021 / 03:00 PM IST

अलीगढ़ (उप्र), 25 नवंबर (भाषा) उत्तराखंड के पूर्व राज्यपाल अजीज कुरैशी ने कहा है कि उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की विभाजनकारी राजनीति का अंत सुनिश्चित करने के लिए ”सभी धर्मनिरपेक्ष राजनीतिक दलों” को हाथ मिलाना चाहिए।

कुरैशी ने बुधवार शाम यहां कहा, ‘सभी धर्मनिरपेक्ष दलों और लोकतंत्र, सामाजिक न्याय, भारत की पारंपरिक पवित्र संस्कृति को महत्व देने वाले सभी लोगों को उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव में भाजपा की विभाजनकारी राजनीति का अंत सुनिश्चित करने के लिए हाथ मिलाना चाहिए।’

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के ‘ओल्ड बॉयज लॉज’ में कुरैशी ने मीडियाकर्मियों को संबोधित करते हुए कहा, ‘मुझे विश्वास है कि कांग्रेस समेत सभी धर्मनिरपेक्ष दलों को एक मंच पर लाने के लिए चल रहे प्रयास सफल होंगे। यदि धर्मनिरपेक्ष दल गठबंधन करने में विफल रहते हैं तो इसका मतलब भारत के लोकतांत्रिक भविष्य का अंत होगा और इसके लिए धर्मनिरपेक्ष दल स्वयं जिम्मेदार होंगे।’

भाजपा पर उत्तर प्रदेश में रावण राज चलाने का आरोप लगाते हुए पूर्व राज्यपाल ने कहा कि सच्चे धर्म का पालन करने वालों को इस रावण राज को खत्म करने के लिए मिलकर लड़ना होगा।

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के नेता असदुद्दीन ओवैसी के बारे में पूछे गए एक प्रश्न के उत्तर में कुरैशी ने उन पर भाजपा के साथ मिले होने का आरोप लगाया।

कुरैशी ने कहा कि ओवैसी को भाजपा ने वोट काटने के काम में लगाया है। उन्होंने कहा, ‘किसी को भी उनकी सांप्रदायिक बयानबाजी का शिकार नहीं होना चाहिए।’

भाषा सं जफर

मनीषा शोभना

शोभना