निर्माणाधीन राजमार्ग के बीच आ रहे मंदिर को हटाने का विरोध; 32 लोगों पर निरोधात्मक कार्यवाही |

निर्माणाधीन राजमार्ग के बीच आ रहे मंदिर को हटाने का विरोध; 32 लोगों पर निरोधात्मक कार्यवाही

निर्माणाधीन राजमार्ग के बीच आ रहे मंदिर को हटाने का विरोध; 32 लोगों पर निरोधात्मक कार्यवाही

: , September 22, 2022 / 03:42 PM IST

शाहजहांपुर (उत्तर प्रदेश), 22 सितंबर (भाषा) शाहजहांपुर जिले में निर्माणाधीन राष्ट्रीय राजमार्ग के रास्‍ते में आ रहे हनुमान मंदिर को हटाने की प्रशासन की प्रक्रिया का स्थानीय लोग लगातार विरोध कर रहे हैं। हालांकि, इस दौरान काई समस्या ना हो, यह सुनिश्चित करने के लिए मंदिर के पुजारी समेत 32 लोगों पर निरोधात्मक कार्यवाही की गई है।

तिलहर क्षेत्र की उपजिलाधिकारी राशि कृष्णा ने बृहस्‍पतिवार को बताया कि तिलहर थाना क्षेत्र के कछियानी खेड़ा में दिल्ली-लखनऊ राष्ट्रीय राजमार्ग के किनारे 100 साल से भी पुराना मंदिर स्थित है। लेकिन राजमार्ग को चौड़ा करके चार लेन का किया जाने के कारण मंदिर सड़क के बीचो-बीच आ रहा है, इसलिए उसे पूरी विधिक प्रक्रिया के साथ कुछ दूरी पर स्थानांतरित किया जा रहा है।

उन्‍होंने बताया कि प्रशासन सम्मान पूर्वक मंदिर को उसके पुरान जगह स करीब 80 मीटर की दूरी पर पुन:स्थापित कर रहा है। उन्होंने बताया कि पूरे मंदिर को स्थानांतरित करने के लिए उसकी नींव में जैक लगाया गया है और यह प्रक्रिया 17 सितंबर से जारी है। राज्य में पहली बार इस तकनीक का उपयोग किया जा रहा है।

हालांकि मंदिर को स्‍थानांतरित किये जाने का विरोध हो रहा है। तिलहर के थाना प्रभारी वीरेंद्र सिंह ने बताया कि विरोध कर रहे पुजारी तथा ग्रामीणों सहित 32 लोगों पर निरोधात्मक कार्यवाही (रेस्ट्रेनिंग ऑर्डर) की गई है। मंदिर के आसपास बड़ी संख्या में पुलिस तैनात की गई है।

उधर, समाजवादी पार्टी के नेता जयेश प्रसाद ने संवाददाताओं से कहा कि यह मंदिर आस्था का केंद्र है और प्रशासन द्वारा उसे स्थानांतरित किया जाना गलत है।

विश्‍व हिन्‍दू परिषद (विहिप) के नेता राजेश अवस्‍थी ने अपने साथियों के साथ मंदिर परिसर में पहुंचकर प्रदर्शन किया और कहा कि अगर प्रशासन अपनी मनमानी करेगा तो बड़े स्तर पर आंदोलन शुरू किया जाएगा।

इसी बीच, पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद मंगलवार को मंदिर परिसर में पहुंचे और आरती की। इस दौरान बड़े पैमाने पर पुलिस बल तैनात रहा।

उधर, यहां सोशल मीडिया पर कथित रूप से जिलाधिकारी का मंदिर के पुजारी को धमकाने का एक ऑडियो वायरल हो रहा है। ऑडियो में कहा जा रहा है कि मंदिर हर हाल में हटेगा और जो भी विरोध करेगा उसकी गिरफ्तारी की जाएगी।

भाषा सं सलीम मनीषा अर्पणा

अर्पणा

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)