आंबेडकर के सिद्धांतों पर चलने वालों को साथ जोड़कर संविधान, लोकतंत्र को बचाएं समाजवादी: अखिलेश यादव |

आंबेडकर के सिद्धांतों पर चलने वालों को साथ जोड़कर संविधान, लोकतंत्र को बचाएं समाजवादी: अखिलेश यादव

आंबेडकर के सिद्धांतों पर चलने वालों को साथ जोड़कर संविधान, लोकतंत्र को बचाएं समाजवादी: अखिलेश यादव

: , November 29, 2022 / 08:43 PM IST

(फोटो के साथ)

लखनऊ, 29 सितंबर (भाषा) समाजवादी पार्टी (सपा) मुखिया अखिलेश यादव ने पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं से सपा को राष्‍ट्रीय पार्टी बनाने का आह्वान करते हुए बृहस्‍पतिवार को कहा कि समाजवादियों की कोशिश होनी चाहिए कि वे बाबा साहब भीमराव आंबेडकर और समाजवाद के प्रणेता डॉक्टर राम मनोहर लोहिया के सिद्धांतों पर चलने वाले लोगों को साथ जोड़कर संविधान और लोकतंत्र को बचाएं।

यादव ने यहां पार्टी के राष्‍ट्रीय अधिवेशन में लगातार तीसरी बार सपा का अध्यक्ष चुने जाने के बाद अपने संबोधन में कहा ‘‘नेताजी (सपा संस्‍थापक मुलायम सिंह यादव) हमेशा चाहते थे कि समाजवादी पार्टी एक राष्ट्रीय पार्टी बने। हम लोगों ने संघर्ष किया। बहुत कोशिश की। आज के दिन जब आप मुझे पांच साल और मौका दे रहे हैं तो हम सबको मिलकर संकल्प लेना चाहिए कि जब अगली बार हम लोग (अधिवेशन में) मिलें तो समाजवादी पार्टी एक राष्ट्रीय पार्टी बन चुकी हो।’’

यादव ने बहुजन समाज पार्टी (बसपा) अध्‍यक्ष मायावती के मुख्‍यमंत्री रहते हुए बनाये गये रमाबाई आंबेडकर मैदान से एक बड़ा संदेश देते हुए कहा, ‘‘वे लोग भी आज समाजवादी पार्टी से जुड़ रहे हैं जो बाबा साहब भीमराव आंबेडकर के सपने को साकार करना चाहते हैं। शोषित, वंचित, पिछड़े और दलित जिन्हें आजादी के बाद अधिकार और सम्मान नहीं मिला, वे भी आज समाजवादियों की तरफ देख रहे हैं। समाजवादियों की यह कोशिश होनी चाहिए कि बाबा साहब भीमराव आंबेडकर और डॉक्टर राम मनोहर लोहिया के सिद्धांतों पर चलने वाले लोगों को साथ जोड़कर हम लोग संविधान और लोकतंत्र को बचाने का काम करें।’’

लगातार तीसरी बार सपा के अध्‍यक्ष चुने गये यादव ने कहा, ‘‘पार्टी अध्‍यक्ष का पद केवल पद नहीं है बल्कि बहुत बड़ी जिम्मेदारी भी है। यह जिम्मेदारी तब दी गयी है जब देश के लोकतंत्र और संविधान को खतरा है। दिल्ली और लखनऊ में जो सरकारें हैं उन्होंने धीरे-धीरे सभी संस्थाओं पर कब्जा कर लिया है। मैं आपको भरोसा दिलाता हूं अगर हर पल इसके खिलाफ काम करना पड़ेगा तो मैं इन तमाम शक्तियों से लड़ने का काम करूंगा।’’

पूर्व मुख्‍यमंत्री ने सत्‍तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को इतिहास का सबसे ज्‍यादा झूठ बोलने वाला दल करार देते हुए कहा कि जिन लोगों ने इतिहास पढ़ा होगा वे जानते होंगे कि हिटलर की सरकार में एक प्रोपेगेंडा मंत्री हुआ करता था। वहां तो एक ही मंत्री था लेकिन अगर भाजपा के प्रोपेगेंडा को देखें तो लगता है कि पूरी की पूरी भाजपा झूठ के सहारे ही चल रही है।

उन्‍होंने कहा, ‘‘आज नवरात्रि है। बहुत से हमारे साथी हैं जिन्होंने व्रत रखा है। आज हम मां दुर्गा से यही मांगें कि जो लोग सत्ता में हैं, वे सच बोलने लगें। याद रखना जिस समय वे सच बोलेंगे, तभी राजनीति के रसातल में पहुंच जाएंगे। इन्हें कोई पूछने वाला नहीं मिलेगा।’’

यादव ने भाजपा पर सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग कर जनता से सपा की सरकार छीनने का गम्‍भीर आरोप भी लगाया। उन्‍होंने कहा, ‘‘यह सरकार जनता की बनाई हुई नहीं है। जब आप सदस्यता अभियान के लिए जनता के बीच गए होंगे तो आपने महसूस किया होगा कि जनता को खुद ही भरोसा नहीं था कि भाजपा की सरकार कैसे बन गई। इन लोगों ने आपकी सरकार छीनी है।’’

उन्‍होंने दावा किया, ‘‘उत्तर प्रदेश में समाजवादियों की सरकार बन गई थी। पार्टी को जनसमर्थन मिला था, लेकिन भाजपा ने पूरी सरकारी मशीनरी को लगाकर आपकी सरकारी छीन ली, क्योंकि भाजपा जानती थी कि उत्तर प्रदेश की सरकार जाने का मतलब है दिल्ली की सरकार भी चली जाएगी, इसलिए भाजपा के लोगों ने वह सब कुछ किया जो वह कर सकते थे।’’

यादव ने निर्वाचन आयोग पर भी गम्‍भीर आरोप लगाते हुए कहा कि आयोग ने भाजपा की साजिश के तहत उसके पन्‍ना प्रभारियों के इशारे पर हर विधानसभा क्षेत्र में सपा के कोर वोटबैंक यानी यादव और मुसलमानों के कम से कम 20-20 हजार मतदाताओं के वोट काट दिये। चाहे तो इसकी जांच करा ली जाए। यह भाजपा की रणनीति का हिस्‍सा था।

उन्‍होंने पार्टी कार्यकर्ताओं का आह्वान करते हुए कहा, ‘‘हमने अगर मुकाबला किया होता और अपने पक्के बूथों पर अगर दो-तीन प्रतिशत वोट भी बढ़ा दिया होता तो इतनी बेईमानी के बाद भी भाजपा की सरकार नहीं बनती। इसलिये हमें अपना बूथ सबसे मजबूत बनाना पड़ेगा। एक भी वोट कटना नहीं चाहिए। हम समाजवादियों से अपील करते हैं कि ज्यादा से ज्यादा माताओं और बहनों के बीच जाएं और इस नाकाम सरकार की असलियत बताएं। हमारी जिम्मेदारी बनती है कि अगर भाजपा के लोग बूथों पर झूठा प्रचार करके जनता को गुमराह करते हैं तो हमें समय-समय पर जनता को सावधान करना होगा।’’

भाजपा पर उत्तर प्रदेश के साथ भेदभाव का आरोप लगाते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सरकार गुजरात में बड़े उद्योग और कारखाने ले जा रही है। यह ठीक बात है लेकिन सबसे बड़ी आबादी वाले उत्‍तर प्रदेश और बिहार के साथ भेदभाव क्‍यों हो रहा है। जिस प्रदेश ने केंद्र में दो बार सरकार बनवाई हो उसे डबल इंजन की भाजपा सरकार से क्या फायदा हो रहा है। सरकार ने देश की प्रतिष्ठित फौज को भी धोखा दिया है। अग्निवीर जैसी और अस्थाई नौकरी कोई स्वीकार नहीं कर सकता, लेकिन गरीबी और बड़े पैमाने पर बेरोजगारी के कारण हमारे नौजवान दुखी हैं जिससे वे अग्निवीर योजना में भर्ती के लिए जा रहे हैं। सरकार यह न समझे कि वे खुशी-खुशी भर्ती के लिए आ रहे हैं।

सपा अध्‍यक्ष ने सपा के वरिष्‍ठ नेता एवं विधायक आजम खां का जिक्र करते हुए कहा कि जब से भाजपा की सरकार आई है आजम खां पर अन्याय रुक नहीं रहा है। राजनीति के इतिहास में कम लोग होंगे जिन पर इतने झूठे मुकदमे लगाए गए हों। अधिकारियों को यह कह कर भेजा गया कि तरक्‍की और अच्छी तैनाती तभी मिलेगी जब वे अन्याय करेंगे। अधिकारियों को यह समझाकर भेजा जा रहा है कि उन्‍हें किस पर झूठे मुकदमे लगाने हैं किस पर अन्याय करना है।

भाषा सलीम सुरभि

सुरभि

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)