दक्षिण अफ्रीका में संक्रमितों के सम्पर्क में आये व्यक्तियों का पता लगाने एवं पृथक करने पर लगी रोक |

दक्षिण अफ्रीका में संक्रमितों के सम्पर्क में आये व्यक्तियों का पता लगाने एवं पृथक करने पर लगी रोक

दक्षिण अफ्रीका में संक्रमितों के सम्पर्क में आये व्यक्तियों का पता लगाने एवं पृथक करने पर लगी रोक

: , December 25, 2021 / 06:18 PM IST

(फाकिर हसन)

जोहानिसबर्ग, 25 दिसंबर (भाषा) दक्षिण अफ्रीका ने महामारी से उत्पन्न आर्थिक मंदी से उबरने की कोशिश के बीच कोविड​​​​-19 से संक्रमित व्यक्तियों के सम्पर्क में आये व्यक्तियों का पता लगाने और उन्हें पृथक करने पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी है। यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग ने दी।

स्वास्थ्य विभाग के महानिदेशक डॉ. सैंडिले बुथेलेजी ने बृहस्पतिवार को इसकी पुष्टि की कि संक्रमित व्यक्तियों के सम्पर्क में आये व्यक्तियों का पता लगाना तत्काल प्रभाव से रोक दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि ऐसा अब केवल सामूहिक प्रसार की स्थिति में किया जाएगा।

बुथेलेजी ने कहा, ‘‘संक्रमित व्यक्तियों के सम्पर्क में आये सभी व्यक्तियों को उच्च निगरानी (प्रतिदिन तापमान जांचना, लक्षण पर नजर रखना) के साथ अपने सामान्य कर्तव्य जारी रखने चाहिए। यदि उनमें कोई लक्षण विकसित होते हैं, तो जांच करानी चाहिए और स्थिति की गंभीरता के अनुसार प्रबंध करना चाहिए।’’

यह कदम तब आया है जब वैज्ञानिकों और चिकित्सा बिरादरी के सदस्यों ने सरकार को सलाह दी है कि गौतेंग प्रांत का आर्थिक केंद्र अब चौथी लहर के शिखर को पार कर चुका है।

दक्षिण अफ्रीका में एक अध्ययन में पाया गया है कि कोविड-19 के ओमीक्रोन स्वरूप का पहले के स्वरूपों की तुलना में कम गंभीर प्रभाव पड़ता है। ओमीक्रोन स्वरूप की सबसे पहले पहचान दक्षिण अफ्रीकी वैज्ञानिकों ने पिछले महीने की थी और उसके बाद इसके प्रभाव को लेकर व्यापक अध्यन शुरू हुआ था।

विटवाटर्सरैंड विश्वविद्यालय में महामारी विज्ञान के प्रोफेसर शेरिल कोहेन ने कहा, ‘‘दक्षिण अफ्रीका में, ओमीक्रोन इस तरह से व्यवहार कर रहा है, जो कम गंभीर है।’’

भाषा अमित दिलीप

दिलीप

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

#HarGharTiranga