बांग्लादेश : 2015 में मस्जिद पर हमले के मामले में पांच आतंकवादियों को मौत की सजा |

बांग्लादेश : 2015 में मस्जिद पर हमले के मामले में पांच आतंकवादियों को मौत की सजा

बांग्लादेश : 2015 में मस्जिद पर हमले के मामले में पांच आतंकवादियों को मौत की सजा

: , August 17, 2022 / 08:43 PM IST

ढाका, 17 अगस्त (भाषा) बांग्लादेश के एक न्यायाधिकरण ने सात साल पहले दक्षिण-पूर्वी बंदरगाह शहर चटगांव के पास एक प्रमुख नौसैन्य ठिकाने के अंदर स्थित एक मस्जिद पर बम हमले के लिए प्रतिबंधित जेएमबी संगठन के पांच आतंकवादियों को बुधवार को मौत की सजा सुनाई। जिन आतंकवादियों को मौत की सजा सुनायी गई है उनमें एक पूर्व नौसैनिक भी शामिल है।

अदालत के अधिकारियों ने कहा कि चटगांव आतंकवाद रोधी न्यायाधिकरण के न्यायाधीश अब्दुल हलीम ने फैसला सुनाया। फैसला सुनाये जाने के दौरान पांच में से चार दोषी कटघरे में थे। फैसला पांचवें आतंकवादी की अनुपस्थिति में सुनाया गया क्योंकि वह अभी फरार है। सभी दोषी प्रतिबंधित जमातुल मुजाहिदीन बांग्लादेश (जेएमबी) से संबद्ध हैं।

न्यायाधीश ने मौत की सजा सुनाते हुए उनमें से प्रत्येक पर 50,000 टका का जुर्माना भी लगाया।

न्यायाधीश ने अपनी टिप्पणी में कहा कि दोषियों का एक नौसैनिक अड्डे के अंदर आतंकवादी कृत्य बांग्लादेश की स्वतंत्रता और संप्रभुता पर हमला करने के समान है।

लोक अभियोजक मनोरंजन दास ने कहा कि दोषियों में से एक, एम सखावत हुसैन, एक पूर्व नौसैनिक है।

18 दिसंबर, 2015 को जुमे की नमाज के दौरान आतंकवादियों ने नौसेना द्वारा संचालित मस्जिद में बम विस्फोट किए थे, जिसमें 24 रक्षाकर्मी और नागरिक घायल हो गए थे।

भाषा अमित पवनेश

पवनेश

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)