ब्रिक्स: पुतिन ने वैश्विक अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचाने वाले कुछ देशों के कदमों की आलोचना की

ब्रिक्स: पुतिन ने वैश्विक अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचाने वाले कुछ देशों के कदमों की आलोचना की

: , June 23, 2022 / 09:43 PM IST

मास्को, 23 जून (भाषा) रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने बृहस्पतिवार को कहा कि ब्रिक्स देशों ((ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका) के लिए एक बहुध्रुवीय दुनिया बनाने के लिए संयुक्त रूप से काम करने की आवश्यकता अब पहले से कहीं अधिक महत्वपूर्ण हो गई है।

पुतिन ने कुछ देशों के ‘‘बिना सोचे विचारे और स्वार्थी कदमों’’ की आलोचना की जिसने वैश्विक अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचाया है। पुतिन का इशारा परोक्ष तौर पर अमेरिका और उसके पश्चिमी सहयोगी देशों की ओर था।

पुतिन ने वीडियो लिंक के जरिये 14वें ब्रिक्स सम्मेलन को संबोधित करते हुए यह भी कहा कि पांच देश – ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका – अंतरराष्ट्रीय स्थिरता और सुरक्षा, सतत विकास और समृद्धि तथा अपने लोगों की भलाई सुनिश्चित करने के लिए प्रभावी ढंग से मिलकर काम कर सकते हैं।

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग द्वारा आयोजित वार्षिक शिखर सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो और दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा के साथ हिस्सा लिया।

पुतिन ने कहा, ‘‘हमने कई बार कहा है कि हम केवल एकसाथ मिलकर संघर्षों का समाधान, आतंकवाद का मुकाबला, संगठित अपराध, नयी तकनीकों के आपराधिक उपयोग, जलवायु परिवर्तन और खतरनाक संक्रमणों के प्रसार जैसी समस्याओं को हल कर सकते हैं।’’

रूसी राष्ट्रपति ने कहा कि समष्टि अर्थशास्त्र में अपनी गलतियों के लिए पूरी दुनिया को दोषी ठहराने के पश्चिमी देशों के स्वार्थी प्रयासों ने एक संकट उत्पन्न कर दिया है, जिससे केवल ईमानदार और पारस्परिक रूप से लाभकारी सहयोग से ही पार पाया जा सकता है।

उन्होंने कहा, ‘‘केवल ईमानदार और पारस्परिक रूप से लाभकारी सहयोग के आधार पर इस संकट की स्थिति से बाहर निकला जा सकता है, जो उन कुछ देशों बिना सोचे विचारे और स्वार्थी कार्यों के कारण वैश्विक अर्थव्यवस्था में फैल चुका है तथा जो आर्थिक नीति में अपनी गलतियों के दोष को वित्तीय तंत्र का उपयोग करके पूरी दुनिया पर मढते हैं।’’

पुतिन ने 24 फरवरी को यूक्रेन के खिलाफ ‘विशेष सैन्य अभियान’ का आदेश दिया था। अमेरिका के नेतृत्व वाले पश्चिमी देशों ने यूक्रेन पर आक्रमण के लिए रूस पर कड़े प्रतिबंध लगाए हैं।

पुतिन ने कहा कि ब्रिक्स देशों के नेतृत्व की पहले से कहीं अधिक जरूरत है ताकि अंतरराष्ट्रीय कानून के सार्वभौमिक रूप से मान्य मानदंडों और संयुक्त राष्ट्र चार्टर के प्रमुख सिद्धांतों के आधार पर अंतर-सरकारी संबंधों की वास्तविक बहुध्रुवीय प्रणाली को आकार देने के लिए एक एकीकृत सकारात्मक नीति विकसित की जा सके।

उन्होंने कहा, ‘‘मैं इस पर जोर दूंगा कि रूस समूह में सभी भागीदारों के साथ घनिष्ठ बहुआयामी बातचीत जारी रखने और अंतरराष्ट्रीय मामलों में अपनी भूमिका को बढ़ाने में योगदान देने के लिए तैयार है।’’

पुतिन ने कहा, ‘‘हम इसको लेकर आश्वस्त हैं कि अंतरराष्ट्रीय कानून के सार्वभौमिक रूप से मान्य मानदंडों और संयुक्त राष्ट्र चार्टर के प्रमुख सिद्धांतों के आधार पर, अंतरराज्यीय संबंधों के वास्तविक बहु-ध्रुवीय प्रणाली के निर्माण की दिशा में एक एकीकृत और सकारात्मक मार्ग तैयार करने में ब्रिक्स देशों का नेतृत्व महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है।’’

उन्होंने कहा कि ब्रिक्स देश वैश्विक और क्षेत्रीय एजेंडा के सभी मुद्दों पर सहयोग बढ़ा रहे हैं ‘‘और हर साल ब्रिक्स का प्राधिकार और वैश्विक मंच पर इसका प्रभाव लगातार बढ़ रहा है।’’

भाषा अमित माधव

माधव

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)