इजराइल-गाजा संघर्ष में मृतकों की संख्या 48 हुई |

इजराइल-गाजा संघर्ष में मृतकों की संख्या 48 हुई

इजराइल-गाजा संघर्ष में मृतकों की संख्या 48 हुई

: , August 11, 2022 / 10:29 PM IST

गाजा सिटी (फलस्तीन), 11 अगस्त (एपी) इजराइल और गाजा के विद्रोहियों के बीच पिछले सप्ताहांत हुए संघर्ष में फलस्तीन में मृतकों की संख्या बृहस्पतिवार को 48 हो गई। मृतकों में 11 साल की एक लड़की भी शामिल है।

संघर्ष में घायल हुए आठ और 14 साल के दो बच्चों को यरुशलम के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उनकी स्थिति गंभीर है। गाजा में इस्लामी जेहादी विद्रोहियों को निशाना बनाकर सप्ताहांत में किए गए हमलों में 300 से ज्यादा फलस्तीनी घायल हुए। हमलों के बाद जेहादी समूह ने इजराइल पर सैकड़ों रॉकेट दागे हैं।

यरुशलम के मुकासिद अस्पताल में 11 वर्षीय लड़की लयान अल शायेर की मौत से संघर्ष में मारे गए बच्चों की संख्या 17 हो गई है। वहीं, 14 वर्षीय नईफ अल-अवदात और आठ वर्षीय मोहम्मद अबु काफिया मुकासिद अस्पताल के गहन चिकित्सा कक्ष (आईसीयू) में भर्ती हैं।

इजराइल ने कहा है कि फलस्तीनी विद्रोहियों द्वारा दागे गए राकेट लक्ष्य से चूक गए और इन घटनाओं में कम से कम 16 लोगों की मौत हुई है। ऐसा प्रतीत होता है कि इजराइल के हमलों में 30 से अधिक फलस्तीनी मारे गए हैं, जिनमें आम नागरिक और कई विद्रोही शामिल हैं। मारे गए विद्रोहियों में दो इस्लामिक जेहाद कमांडर भी शामिल हैं।

संघर्ष शुक्रवार को शुरू हुआ था और रविवार रात संघर्ष विराम हुआ। संघर्ष में इजराइल का कोई नागरिक हताहत नहीं हुआ। इजराइल और गाजा के विद्राही हमास शासकों के बीच पिछले 15 वर्षों में चार युद्ध और कई छोटी लड़ाइयां हो चुकी हैं।

एक अन्य घटनाक्रम में, फलस्तीन के एक कैदी को भूख हड़ताल से तबीयत खराब होने के बाद बृहस्पतिवार को इजराइल की जेल से अस्पताल ले जाया गया। खलील अववदेह के परिवार के अनुसार बिना किसी अभियोग या आरोप के इजराइल द्वारा हिरासत में रखे जाने पर ध्यान खींचने के लिए अववदेह 160 दिनों से भूख हड़ताल पर हैं। गाजा संघर्ष के दौरान 40 वर्षीय अववदेह का मुद्दा चर्चा में आया। गाजा के विद्रोहियों ने संघर्ष विराम के तहत अववदेह की रिहाई की मांग की थी।

इजराइल ने वर्तमान में लगभग 4,400 फलस्तीनियों को हिरासत में रखा है, जिनमें घातक हमले करने वाले विद्रोही, तथा विरोध प्रदर्शन या पथराव के लिए गिरफ्तार किए गए लोग भी शामिल हैं।

एपी आशीष माधव

आशीष

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)