बाढ़ चेतावनी प्रणाली महत्वपूर्ण, लेकिन समुचित संसाधन भी जरूरी |

बाढ़ चेतावनी प्रणाली महत्वपूर्ण, लेकिन समुचित संसाधन भी जरूरी

बाढ़ चेतावनी प्रणाली महत्वपूर्ण, लेकिन समुचित संसाधन भी जरूरी

: , November 29, 2022 / 07:51 PM IST

(लिंडा स्पाइट, ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय, ऑक्सफोर्ड)

ऑक्सफोर्ड, पांच अक्टूबर (360इन्फो) प्राकृतिक आपदा बाढ़ को समय रहते रोकने के लिए एक किफ़ायती और सटीक चेतावनी प्रणाली बेहद महत्वपूर्ण उपकरण है। लेकिन समुचित संसाधनों के अभाव के कारण यह आधी जंग का मुकाबला करने जैसी ही साबित हो रही है।

विश्व स्तर पर, भीषण चक्रवात जैसे चरम तूफान ही बाढ़ से ज्यादा नुकसान पहुंचाते हैं। पिछले 50 वर्षों में, वैश्विक मौसमी आपदाओं की संख्या में पांच गुना वृद्धि हुई है, लेकिन बेहतर प्रारंभिक चेतावनियों और आपदा प्रबंधन को धन्यवाद देना चाहिए जिनकी वजह से ऐसी घटनाओं से होने वाली मौतों की संख्या लगभग तीन गुना कम हो गई है।

बाढ़ चेतावनी प्रणाली बाढ़ को जीवन और आजीविका पर आघात कर उनको नष्ट करने से रोकने का एक किफायती तरीका है। चेतावनियां बाढ़ को नहीं रोकने के लिए कारगर नहीं है बल्कि वे समुदायों को आपदा से निपटने की तैयारी करने के लिए आसन्न बाढ़ की अग्रिम सूचना देती हैं। इस तैयारी में अतिरिक्त आपातकालीन कर्मियों को लाना, अस्थायी बाढ़ सुरक्षा तंत्र स्थापित करना, स्वच्छ पेयजल की व्यवस्था करना, क़ीमती सामान ले जाना या सबसे भीषण घटनाओं के समय लोगों की निकासी की व्यवस्था करना आदि शामिल हैं।

चेतावनी प्रणाली न केवल सतर्क करती है, बल्कि इससे बाढ़ के बाद साफ-सफाई में तेजी लाने के लिए संसाधनों को जुटाने में मदद मिलती है, जरूरतमंद लोगों तक जल्दी पहुंचा जा सकता है और समय रहते तैयारियों के जरिये बाढ़ के प्रभाव को कम किया जा सकता है।

बाढ़ की चेतावनी एक बड़ी, व्यापक बाढ़ पूर्वानुमान प्रणाली का एक हिस्सा है। चेतावनियों का उपयोग बाढ़ के पूर्वानुमान को व्यक्तियों, व्यवसायों और आपातकालीन प्रतिक्रियादाताओं तक भेजने के लिए किया जाता है।

सबसे अच्छी बाढ़ चेतावनी केवल नदी के स्तर पर जानकारी प्रदान नहीं करती है जो अक्सर उपयोगकर्ताओं के लिए अर्थहीन होती है। बल्कि यह चेतावनी इस जानकारी को संभावित प्रभावों की व्याख्या के साथ जोड़ती हैं। उदाहरण के लिए – “नदी का जल स्तर तेजी से बढ़ेगा जिससे व्यापक बाढ़ आएगी। इससे तटीय हिस्सों, सड़कों और जान-माल का नुकसान होने की आशंका है।”

बाढ़ पूर्वानुमान प्रणाली तभी उपयोगी होती है जब बाढ़ की चेतावनी के बाद प्रभावी कार्रवाई होती है। बाढ़ पूर्वानुमान प्रणाली का उद्देश्य बचाव संबंधी तैयारियों के लिए समुचित समय प्रदान करना है।

बहरहाल, निर्णय लेने वालों के लिए अनिश्चितता एक चुनौती बनी हुई है। बाढ़ का पूर्वानुमान लगाने वालों को अनिश्चितता और तैयारी के समय के बीच संतुलन बनाने की जरूरत है। इसके लिए सबसे अच्छा तरीका विशेषज्ञों के सहयोग से बाढ़ पूर्वानुमान प्रणाली को डिजाइन करना है ताकि जरूरतों के लिए चेतावनी की व्यवस्था तैयार की जा सके।

एक अहम पहलू यह भी है कि अगर चेतावनी प्राप्तकर्ता के पास कार्रवाई करने की क्षमता नहीं है तो एक विश्वसनीय बाढ़ चेतावनी भी बेकार है। तैयारियों के लिए समय महत्वपूर्ण है, लेकिन अधिक गंभीर बात यह है कि समाज के बड़े हिस्से में कार्रवाई करने के लिए संसाधनों की कमी है।

(360इन्फो.ओआरजी) मनीषा पवनेश

पवनेश

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)