श्रीलंका के पूर्व राष्ट्रपति राजपक्षे सिंगापुर से थाईलैंड पहुंचे |

श्रीलंका के पूर्व राष्ट्रपति राजपक्षे सिंगापुर से थाईलैंड पहुंचे

श्रीलंका के पूर्व राष्ट्रपति राजपक्षे सिंगापुर से थाईलैंड पहुंचे

: , August 11, 2022 / 08:48 PM IST

सिंगापुर/बैंकाक, 11 अगस्त (भाषा) सिंगापुर में अपना अल्पकालिक यात्रा पास समाप्त होने के बाद दूसरे देश में स्थायी शरण मांगने से पहले श्रीलंका के पूर्व राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे अस्थायी प्रवास के लिए बृहस्पतिवार को एक विशेष विमान से थाईलैंड पहुंचे। एक खबर में यह जानकारी दी गई है।

‘द स्ट्रेट्स टाइम्स’ अखबार की खबर के मुताबिक ऐसा माना जाता है कि राजपक्षे सिंगापुर के सेलेटर हवाई अड्डे से बैंकॉक के डॉन मुआंग हवाई अड्डे पर बैंकॉक के समय के अनुसार रात लगभग आठ बजे पहुंचे।

खबर के अनुसार राजपक्षे उसी दिन बैंकॉक पहुंचे, जिस दिन सिंगापुर में उनका वीजा खत्म हो गया था।

थाईलैंड सरकार ने एक दिन पहले पुष्टि की थी कि राजपक्षे के देश की यात्रा करने के लिए श्रीलंका की मौजूदा सरकार से अनुरोध प्राप्त हुआ था।

थाइलैंड के प्रधानमंत्री प्रयुत चान-ओ-चा ने बुधवार को पुष्टि की थी कि थाइलैंड सरकार ने राजपक्षे के देश में अस्थायी रूप से रहने पर सहमति जता दी है और इस दौरान राजपक्षे किसी तीसरे देश में स्थायी शरण मिलने की संभावनाएं तलाशेंगे।

थाइलैंड के प्रधानमंत्री ने मानवीय आधार पर 73 वर्षीय राजपक्षे को थाइलैंड यात्रा की अनुमति दी और कहा कि उन्होंने किसी अन्य देश में स्थायी शरण की अपनी तलाश के दौरान इस देश में राजनीतिक गतिविधियां नहीं चलाने का वादा किया है।

जुलाई में श्रीलंका में सरकार विरोधी प्रदर्शनों के बीच देश छोड़ने के बाद सिंगापुर में रहे राजपक्षे थाइलैंड में शरण चाह रहे हैं क्योंकि उनका सिंगापुर का वीजा बृहस्पतिवार को समाप्त हो गया है। वह 13 जुलाई को मालदीव पहुंचे थे और उसके बाद सिंगापुर गये जहां उन्होंने देश के आर्थिक संकट को लेकर प्रदर्शनों के बीच अपने इस्तीफे की घोषणा की थी।

खबर के अनुसार विदेश मंत्री डी प्रमुद्विनाई ने कहा कि पूर्व राष्ट्रपति राजपक्षे थाइलैंड में 90 दिन तक रह सकते हैं क्योंकि वह अब भी राजनयिक पासपोर्ट धारक हैं।

इस बीच श्रीलंका में ‘डेली मिरर’ अखबार की एक खबर में कहा गया है कि राजपक्षे 90 दिन का थाई वीजा समाप्त होने के बाद नवंबर में श्रीलंका लौट आयेंगे।

राजनीतिक सूत्रों ने कहा कि हालांकि, नवंबर में 90 दिनों का थाई वीजा समाप्त होने के बाद राजपक्षे श्रीलंका लौट आएंगे क्योंकि वह एक श्रीलंकाई नागरिक हैं और उनके पास देश में रहने के सभी कानूनी अधिकार थे।

भाषा

देवेंद्र माधव

माधव

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)