जी-20 के स्वास्थ्य मंत्री टीके को लेकर विश्वास बढ़ाने, रोगाणुरोधी प्रतिरोध को लेकर कार्रवाई पर सहमत

जी-20 के स्वास्थ्य मंत्री टीके को लेकर विश्वास बढ़ाने, रोगाणुरोधी प्रतिरोध को लेकर कार्रवाई पर सहमत

Edited By: , September 7, 2021 / 04:01 PM IST

(अदिति खन्ना)

लंदन, सात सितंबर (भाषा) भारत समेत जी-20 देशों के स्वास्थ्य मंत्री रोम में स्वास्थ्य घोषणापत्र में भविष्य की स्वास्थ्य सुरक्षा में सुधार करने, टीके को लेकर विश्वास बढ़ाने और रोगाणुरोधी प्रतिरोध (एएमआर) से निपटने के लिए वैश्विक कार्रवाई को लेकर सहमत हुए।

इस सप्ताह इटली में जी-20 के स्वास्थ्य मंत्रियों की बैठक में कोविड-19 महामारी को समाप्त करने और दुनिया भर में स्वास्थ्य क्षेत्र की बेहतरी का समर्थन करने के लिए मजबूत सहयोग और तालमेल पर सहमति बनी।

जी-20 के सदस्यों में भारत, ब्रिटेन, अमेरिका, अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, चीन, फ्रांस, जर्मनी, इंडोनेशिया, इटली, जापान, कोरिया गणराज्य, मैक्सिको, रूस, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, तुर्की और यूरोपीय संघ शामिल हैं। समूह के देश सुरक्षित, किफायती और प्रभावी कोविड-19 रोधी टीकों, उपचार पद्धति और परीक्षण के लिए समय से काम करने को लेकर सहमत हुए।

ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री साजिद जाविद ने कहा कि स्वास्थ्य को लेकर जी-20 की इन बैठकों में कोविड-19 को रोकने में सहयोग बढ़ाने, महामारी के संबंध में गलत सूचनाओं के प्रसार पर रोक लगाने, टीके को लेकर विश्वास बढ़ाने, क्लीनिकल ट्रायल में हिस्सा लेने वालों का अधिकार सुरक्षित करने जैसे विषयों पर काम करने का महत्वपूर्ण मौका मिला।

स्वास्थ्य और सामाजिक देखभाल मंत्री के रूप में अपनी पहली अंतरराष्ट्रीय यात्रा पर समकक्षों से मुलाकात के दौरान जाविद ने कोविड-19 टीकों के ​​परीक्षण में भाग लेने वाले प्रतिभागियों के टीकाकरण मान्यता पर प्रकाश डाला।

जी-20 ने स्वास्थ्य नीतियां तैयार करने और लागू करते समय स्वास्थ्य सेवा आपूर्ति क्षेत्र में लैंगिक समानता के लक्ष्य को हासिल करने के लिए महिलाओं और लड़कियों की खास जरूरतों के विषय पर भी विचार किया। जी-20 के 30 और 31 अक्टूबर को मुख्य शिखर सम्मेलन से पहले अक्टूबर में समूह के वित्त और स्वास्थ्य मंत्रियों की संयुक्त बैठक होगी।

भाषा आशीष मनीषा

मनीषा