भारत-अमेरिका संबंध केवल द्विपक्षीय हित के लिए नहीं : जयशंकर |

भारत-अमेरिका संबंध केवल द्विपक्षीय हित के लिए नहीं : जयशंकर

भारत-अमेरिका संबंध केवल द्विपक्षीय हित के लिए नहीं : जयशंकर

: , November 29, 2022 / 08:50 PM IST

(ललित के. झा)

वाशिंगटन, 29 सितंबर (भाषा) विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने कहा कि दुनिया के दो सबसे बड़े लोकतंत्र भारत और अमेरिका के बीच संबंध केवल द्विपक्षीय हित के लिए नहीं है, बल्कि उनके संबंधों का असर विश्व स्तर पर भी काफी पड़ता है।

उन्होंने कहा कि दोनों देशों का मानना है कि इस संबंध में काफी क्षमताएं हैं और इसे और आगे बढ़ने की गुंजाइश भी काफी है।

जयशंकर ने वाशिंगटन की चार दिवसीय आधिकारिक यात्रा सम्पन्न करते हुए बुधवार को यहां भारतीय पत्रकारों के एक समूह से कहा, ‘‘ यदि आप भारत-अमेरिका संबंधों को देखें, तो यह केवल एक दूसरे को फायदा पहुंचाने के लिए नहीं हैं। हमारे संबंध आज बाकी दुनिया को प्रभावित करते हैं, निश्चित रूप से हिंद-प्रशांत क्षेत्र को।’’

वाशिंगटन की अपनी चार दिवसीय यात्रा के दौरान जयशंकर ने अपने अमेरिकी समकक्ष विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकेन, रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन, वाणिज्य मंत्री जीना रैमंडो, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवन और मार्क वार्नर तथा एमी बेरा सहित पांच सांसदों से मुलाकात की।

जयशंकर ने अमेरिकी व्यापारिक समुदाय के साथ भी बैठक की।

उन्होंने कहा, ‘‘ ऐसे बहुत से देश हैं जो हमसे व्यक्तिगत या द्विपक्षीय संबंध बनाना चाहते हैं, जिसके जरिए वे ऐसे कई मुद्दों के समाधानों की उम्मीद कर रहे हैं जिसे विश्व तलाश रहा है।’’

जयशंकर ने कहा कि कुल मिलाकर भारत-अमेरिका संबंध अच्छी स्थिति में हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘ यदि आप देखें, हमारे व्यापार अच्छा कर रहे हैं, हमारे राजनीतिक संबंध मजबूत हैं। वीजा को लेकर कुछ प्रक्रिया संबंधी मुद्दे हो सकते हैं, लेकिन लोगों की वास्तविक आवाजाही के संदर्भ में यह काफी सकारात्मक हैं।’’

मंत्री ने कहा, ‘‘ इसलिए, वास्तव में ऐसा बहुत कुछ है जिसका श्रेय हम स्वयं को दे सकते हैं।’’

भाषा निहारिका माधव

माधव

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)