सिंगापुर में जबरन वसूली के मामले में भारतीय मूल के व्यक्ति को सजा

सिंगापुर में जबरन वसूली के मामले में भारतीय मूल के व्यक्ति को सजा

Edited By: , November 29, 2021 / 04:19 PM IST

सिंगापुर, 29 नवंबर (भाषा) सिंगापुर में भारतीय मूल के एक व्यक्ति को सोमवार को 18 महीने कैद की सजा सुनाई गई। व्यक्ति ने एक विवाहित उद्योगपति से 60,000 सिंगापुरी डॉलर की जबरन वसूली की चार व्यक्तियों की साजिश का हिस्सा होने से जुड़े आपराधिक धमकी के एक मामले में अपना दोष स्वीकार किया है।

मीडिया में आई एक खबर के अनुसार, इन लोगों ने उक्त उद्योगपति का 2019 में एक अन्य व्यक्ति से यौन संबंध बनाने का वीडियो गुप्त तरीके से बना लिया था। जबरन वसूली के इस षड्यंत्र में शुरुआत में व्यवसायी के निजी सहायक समेत तीन व्यक्ति शामिल थे। उन्होंने जबरन वसूली की राशि घटाकर 50,000 सिंगापुरी डॉलर कर दी थी। हालांकि राशि के लेनदेन से पहले ही पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। बाद में, उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया था।

‘द स्ट्रेट्स टाइम्स’ समाचारपत्र ने बताया कि षड्यंत्र में शामिल टैन योंग जियान ने दो अप्रैल, 2020 को भारतीय मूल के 29 वर्षीय महादेवन एडविन को जबरन वसूली की साजिश का हिस्सा बना लिया।

मीडिया की खबर के अनुसार, एडविन को 53 वर्षीय व्यवसायी से मिलने वाली राशि में से 50-50 प्रतिशत बांटने का वादा किया गया।

उपलोक अभियोजक झोउ यांग ने अदालत से कहा, ‘‘योंग जियान की योजना के लिए आरोपी व्यक्ति सहमत हो गया, क्योंकि उसकी आय आर्थिक मंदी से प्रभावित थी और उसे अपने नए… फ्लैट (अपार्टमेंट इकाई) के नवीनीकरण के लिए धन की आवश्यकता थी।’’

खबर में कहा गया है कि 2019 के अंत में, निजी सहायक ने गुप्त रूप से व्यवसायी के घर में एक कैमरा लगाया और कैमरा लगभग तीन सप्ताह के लिए उसके घर में छोड़ दिया। वह अपने मालिक को कम से कम पांच मौकों पर किसी अन्य व्यक्ति के साथ यौन संबंध बनाते हुए रिकॉर्ड करने में सफल रहा।

एडविन ने पिछले साल तीन अप्रैल को व्यवसायी को एक संदेश भेजा, जिसमें उसने उद्योगपति को 24 घंटे के भीतर 50,000 सिंगापुरी डॉलर नकद देने को कहा। एडविन ने यह कहा कि यदि वह निर्धारित समय के भीतर नकद देने में विफल रहता है तो उसके ‘‘समलैंगिक कृत्यों’’ का वीडियो फेसबुक और अन्य प्लेटफॉर्म पर डाल दिया जाएगा।

उद्योगपति ने शुरू में तो कहा कि उसके इतनी पास राशि नहीं है लेकिन पिछले साल चार अप्रैल को उसने एडविन को एक और संदेश भेजा जिसमें कहा गया था कि उसे 50,000 सिंगापुरी डॉलर जुटाने के लिए लगभग एक सप्ताह का समय चाहिए।

खबर में कहा गया है कि एडविन को संदेह हुआ और उसने मोबाइल फोन के साथ-साथ उस सिम कार्ड को भी ठिकाने लगा दिया जिसका इस्तेमाल उसने उद्योगपति से संपर्क करने के लिए किया था।

भाषा अमित नेत्रपाल

नेत्रपाल