नये रोगाणुओं की उत्पत्ति के अध्ययन के लिए गठित डब्ल्यूएचओ सलाहकार समूह में भारतीय वैज्ञानिक

नये रोगाणुओं की उत्पत्ति के अध्ययन के लिए गठित डब्ल्यूएचओ सलाहकार समूह में भारतीय वैज्ञानिक

Edited By: , October 14, 2021 / 08:38 PM IST

संयुक्त राष्ट्र/जिनेवा, 14 अक्टूबर (भाषा) भारत के जानेमाने महामारी वैज्ञानिक डॉ रमन गंगाखेडकर को विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के एक विशेषज्ञ समूह में नामित किया गया है जो कोविड-19 फैलाने वाले सार्स-सीओवी-2 वायरस समेत महामारी के रोगाणुओं की उत्पत्ति का अध्ययन करेंगे।

गंगाखेडकर भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) में महामारी विज्ञान और संचारी रोगों के पूर्व प्रमुख हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने बुधवार को ‘नोवेल पैथोजन्स की उत्पत्ति के लिए वैज्ञानिक सलाहकार समूह’ (एसएजीओ) के प्रस्तावित सदस्यों की घोषणा की थी।

यह समूह सार्स-सीओवी-2 समेत महामारी के रोगाणुओं के विकसित होने और पुन: उत्पत्ति का अध्ययन करने के लिए एक वैश्विक रूपरेखा विकसित करेगा।

भाषा वैभव माधव

माधव