इजराइली नेताओं ने भारत के 76वें स्वतंत्रता दिवस पर उसके बढ़ते प्रभाव को रेखांकित किया |

इजराइली नेताओं ने भारत के 76वें स्वतंत्रता दिवस पर उसके बढ़ते प्रभाव को रेखांकित किया

इजराइली नेताओं ने भारत के 76वें स्वतंत्रता दिवस पर उसके बढ़ते प्रभाव को रेखांकित किया

: , August 16, 2022 / 05:09 PM IST

तेल अवीव, 16 अगस्त (भाषा) इजराइल में विभिन्न नेताओं ने भारत को उसके 76वें स्वतंत्रता दिवस पर बधाई दी। इसके साथ ही इन नेताओं ने एक क्षेत्रीय व वैश्विक शक्ति के रूप में इसके बढ़ते प्रभाव व एक नवाचार महाशक्ति के तौर पर इसके उभरने का उल्लेख किया जो विश्व को बेहतर बनाने में मदद कर सकता है।

इजरायल के राष्ट्रपति इसाक हरजोग ने सोमवार शाम को भारत के 76वें स्वतंत्रता दिवस और भारत व इजराइल के बीच 30 साल के पूर्ण राजनयिक संबंधों का जश्न मनाने के लिए आयोजित एक कार्यक्रम में भाग लिया। इस कार्यक्रम में सैकड़ों भारतीय और स्थानीय लोग शामिल हुए।

हरजोग ने कहा, “एक क्षेत्रीय और वैश्विक शक्ति के रूप में भारत का प्रभाव लगातार बढ़ रहा है, और मुझे विश्वास है कि आपकी भागीदारी का स्तर जितना अधिक होगा, सकारात्मक परिवर्तन उतना ही अधिक होगा।”

उन्होंने कहा, “भारतीय राष्ट्रीय गौरव के इस अद्भुत उत्सव में इजराइल हिस्सा लेता है। हम शांति और समृद्धि के लिए अपनी हार्दिक शुभकामनाएं भेजते हैं और हम एक उज्ज्वल भविष्य के वादे को सुरक्षित करने के लिए आपके साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम करने के लिए तत्पर हैं। शुभकामनाएं।”

इजराइल के राष्ट्रपति ने भारत की ऐतिहासिक जीत और इजराइल की राष्ट्रीय दास्तान में ‘स्पष्ट समानताओं’ पर प्रकाश डाला।

उन्होंने कहा कि दोनों प्राचीन राष्ट्र, सदियों की शिक्षाओं और विरासत से समृद्ध, पूरे इतिहास में परस्पर जुड़े हुए हैं और उन्होंने एक ही वर्ष के भीतर स्वतंत्रता हासिल की है।

उन्होंने कहा, “हम कुछ ही महीनों में अपनी आजादी की 75वीं सालगिरह मनाएंगे। आज, कुछ ही दशकों के बाद, हम अपने दो आधुनिक गणराज्यों को रचनात्मकता और लोकतंत्र से गौरवान्वित तौर पर बंधे हुए पाते हैं….।”

हरजोग ने कहा, “इजराइल और भारत दोनों का लक्ष्य समानता और समृद्धि है, हम दोनों आंतरिक और बाहरी चुनौतियों का सामना करते हैं और हम दोनों साझेदारी के विस्तार के लिए तैयार हैं।”

हरजोग ने कहा कि इजराइल भारत के साथ अपने बढ़ते संबंधों और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मजबूत दोस्ती को संजोता है, जिनसे वह कुछ साल पहले अपनी राजकीय यात्रा के दौरान मिले थे।

इस दौरान उन्होंने हाल में गठित आई2यू2 समूह का भी उल्लेख किया जिसमें भारत, इजराइल, अमेरिका और संयुक्त अरब अमीरात शामिल हैं।

उन्होंने कहा, “हम हाथों में हाथ लिए यहां से भारत और वहां से यहां तक शांति व समृद्धि के एक नए युग की शुरुआत करने की शक्ति रखते हैं।”

उन्होंने भारत व इजराइल के बीच सऊदी अरब व ओमान के वायुक्षेत्र से होकर जाने वाली सीधी उड़ान के संदर्भ में हलके-फुलके अंदाज में कहा, “वैसे, हम पांच घंटे की सीधी उड़ान में ऐसा (आना-जाना) कर सकते हैं।”

कार्यक्रम में डिजिटल रूप से जुड़े याइर लापिद ने भारत को “दुनिया को बेहतर बनाने वाली नवाचार महाशक्ति” करार दिया और एक भागीदार, सहयोगी और मित्र के रूप में उसकी उभरती गाथा का हिस्सा बनने की अपनी देश की इच्छा व्यक्त की।

लापिद ने कहा, “भारत एक गौरवशाली लोकतंत्र है जिसकी जड़ें गहरे इतिहास और परंपरा में हैं। यह एक नवाचार महाशक्ति भी है जो दुनिया को बेहतर बना रही है।”

भाषा प्रशांत माधव

माधव

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)