उत्तर कोरिया से मुआवजे की मांग कर रहे पांच लोगों की याचिका पर जापान में सुनवाई

उत्तर कोरिया से मुआवजे की मांग कर रहे पांच लोगों की याचिका पर जापान में सुनवाई

Edited By: , October 14, 2021 / 11:40 AM IST

तोक्यो, 14 अक्टूबर (एपी) जापान की एक अदालत पांच लोगों की उस याचिका पर सुनवाई कर रही है, जिसमें उन्होंने कहा है कि उनसे उत्तर कोरिया के ‘‘ धरती का स्वर्ग ’’ होने का वादा किया गया था, लेकिन उन्होंने वहां केवल मानवाधिकारों के उल्लंघन का ही अनुभव किया। इस खराब अनुभव के लिए अब ये पांचों व्यक्ति उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग-उन से मुआवजे की मांग कर रहे हैं।

याचिकाकर्ताओं के वकील केंजी फुकुदा के अनुसार, तोक्यो की जिला अदालत के किम जोंग-उन को तलब करने के लिए राजी होने के बाद ही यह सुनवाई संभव हो पाई। हालांकि उन्हें किम के पेश होने और अदालत के आदेश देने पर भी मुआवजा मिलने की उम्मीद नहीं है, लेकिन फुकुदा को उम्मीद है कि यह मामला उत्तर कोरिया के जिम्मेदारी लेने तथा राजनयिक संबंधों को सामान्य बनाने से जापान और उत्तर कोरिया के बीच बातचीत के लिए एक मिसाल कायम कर सकता है।

कोरियाई प्रायद्वीप के जापान के उपनिवेशीकरण के दौरान लाखों कोरियाई जापान आए थे, जिनमें से कुछ लोग जबरन, खानों तथा कारखानों में काम करने के लिए आए थे। यह एक ऐसा अतीत है जो अब भी जापान और उत्तर कोरिया के बीच संबंधों को प्रभावित करता है।

पांच व्यक्तियों ने यह उक्त मुकदमा 2018 में दायर किया था। पांचों याचिकाकर्ता में से चार मूलनिवासी कोरियाई और एक जापानी महिला है। महिला ने एक कोरियाई नागरिक से विवाह किया और उनके एक बेटी भी है। ये सभी लोग उत्तर कोरिया से जापान लौट आए हैं। महिला ने कहा ‘‘अगर हमें उत्तर कोरिया के बारे में असलियत पता होती तो हममें से कोई भी वहां नहीं जाता। ’’ उसका दावा है कि उसे उत्तर कोरिया में 43 साल तक बंद करके रखा गया। 2003 में वह किसी तरह वहां से निकल पाई।

याचिका में उत्तर कोरिया से बतौर मुआवजा 10 करोड़ येन (900,000 डॉलर) की मांग की गई हैं।

एपी निहारिका मनीषा

मनीषा