नाटो ने क्षेत्र की एक एक इंच जमीन की रक्षा करने की प्रतिबद्धता जतायी |

नाटो ने क्षेत्र की एक एक इंच जमीन की रक्षा करने की प्रतिबद्धता जतायी

नाटो ने क्षेत्र की एक एक इंच जमीन की रक्षा करने की प्रतिबद्धता जतायी

: , June 30, 2022 / 10:39 PM IST

मैड्रिड, 30 जून (एपी) उत्तरी अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) के प्रमुख ने बृहस्पतिवार को एक सम्मेलन के समापन पर कहा कि यदि नाटो मजबूत और एकजुट नहीं रहा तो अस्थिर विश्व और खतरनाक हो सकता है। इसी सम्मेलन में पश्चिमी नेताओं ने रूस को अपने -अपने देशों की सुरक्षा के लिए ‘प्रत्यक्ष खतरा’ बताया।

मैड्रिड में तीन दिवसीय बैठक के दौरान नाटो सदस्य देशों ने बड़ी शक्ति प्रतिस्पर्धा से उत्पन्न भूराजनीतिक परिदृश्य, साइबर हमले से लेकर जलवायु परिवर्तन तक विभिन्न खतरों पर विचार-विमर्श किया । नेताओं ने वैश्विक स्थिति पर नजर दौड़ायी, तथा उन्होंने चीन पर ‘गंभीर चुनौतियां ’ पेश करने का आरोप लगाया। इसपर चीन ने नाटो को आड़े हाथों लिया। यूक्रेन पर रूस के हमले का विषय सम्मेलन में छाया रहा।

नाटो महासचिव जेंस स्टोलेनबर्ग ने कहा, ‘‘ हम और खतरनक विश्व में रहते हैं और हम अप्रत्याशित दुनिया में रहते हैं एवं हम एक ऐसी दुनिया में रहते हैं जहां यूरोप में भीषण संघर्ष है। साथ ही हमें यह भी पता है कि यह स्थिति और बिगड़ सकती है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ इसलिए इस पश्चिमी सैन्य गठबंधन की यूक्रेन से इस लड़ाई को अन्य देशों में नहीं पहुंचने देने की ‘मूल जिम्मेदारी’ है । मास्को (रूस) के लिए यह भी स्पष्ट करने की जरूरत है कि वह नाटो क्षेत्र की एक एक इंच जमीन की रक्षा करेगा। ’’

वह क्षेत्र बढने ही वाला है। सम्मेलन में नाटो नेताओं ने फिनलैंड एवं स्वीडन को इस सैन्य गठबंधन से जुड़ने का औपचारिक न्यौता दिया।हालांकि तुर्की के राष्ट्रपति रिसपी तैयप एर्दोगान ने कहा कि यदि नार्डिक देश अपने वादों पर खड़ा नहीं उतरते हैं तो वह उनकी सदस्यता में रोड़ा अटका सकता है।

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने चेतावनी दी कि यदि स्वीडन एवं फिनलैंड नाटो सैनिकों की मेजबानी करता है तो वह जवाबी कार्रवाई करेंगे।

एपी राजकुमार माधव

माधव

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

#HarGharTiranga