रूस ने लुहांस्क प्रांत में यूक्रेन के नियंत्रण वाले अंतिम गढ़ पर कब्जा करने का दावा किया |

रूस ने लुहांस्क प्रांत में यूक्रेन के नियंत्रण वाले अंतिम गढ़ पर कब्जा करने का दावा किया

रूस ने लुहांस्क प्रांत में यूक्रेन के नियंत्रण वाले अंतिम गढ़ पर कब्जा करने का दावा किया

: , July 3, 2022 / 07:30 PM IST

कीव, तीन जुलाई (एपी) रूस के रक्षा मंत्री ने दावा किया है कि रूसी सेना ने रविवार को लुहांस्क प्रांत में यूक्रेन के नियंत्रण वाले अंतिम बड़े शहर पर कब्जा कर लिया।

उन्होंने कहा कि रूस इसके साथ ही यूक्रेन के पूरे डोनबास इलाके पर कब्जा करने के लक्ष्य के नजदीक पहुंच गया है।

रक्षामंत्री सर्गेई शोइगू ने राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को यह जानकारी दी कि रूसी सैनिकों ने स्थानीय मिलिशिया के साथ मिलकर ‘‘लिसिचांस्क शहर पर पूरी तरह से कब्जा कर लिया है।’’

यूक्रेन के अधिकारियों ने तत्काल स्थिति स्पष्ट नहीं की है।

यूक्रेन के सैनिक गत कई हफ्तों से लिसिचांस्क शहर को बचाने का प्रयास कर रहे थे और अब रूस के मुकाबले उनकी स्थिति कमजोर हो रही है जबकि पड़ोसी सिविएरोडोनेत्स्क पर एक हफ्ते पहले ही रूस का कब्जा हो चुका है।

लुहांस्क के गवर्नर ने रविवार तड़के कहा था कि रूस की सेना यूक्रेन के लुहांस्क प्रांत में बचे आखिरी गढ़ पर कब्जा करने के लिए अपनी स्थिति मजबूत कर रही हैं।

गवर्नर सेरही हैदै ने टेलीग्राम मैसेजिंग ऐप के जरिये कहा, ‘‘कब्जा करने वाले (रूस) ने अपने पूरे सैनिकों को लिसिचांस्क शहर की ओर भेज दिया है। रूसी सैनिक शहर में क्रूरता से हमले कर रहे हैं। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘रूस को भारी नुकसान हुआ है, लेकिन रण क्षेत्र में वह बढ़त बनाए हुए हैं। रूसी सैनिकों की शहर में मौजूदगी बढ़ रही है।’’

उल्लेखनीय है कि एक नदी लिसिचांस्क को सिविएरोडोनेत्स्क से अलग करती है।

यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की के सलाहकार ओलेक्सी एरेस्टोविच ने शनिवार देर रात ऑनलाइन माध्यम से दिये एक साक्षात्कार में कहा कि रूसी सेनाएं पहली बार नदी पार कर उत्तर से दाखिल होने में सफल रही हैं जिससे ‘‘खतरनाक’’ स्थिति उत्पन्न हो गई है।

एरेस्टोविच ने कहा कि अभी वे (रूसी सैनिक) शहर के केंद्र तक नहीं पहुंचे हैं, लेकिन लिसिचांस्क की लड़ाई के रुख का फैसला सोमवार तक हो जाएगा।

लुहांस्क और पड़ोसी दोनेत्स्क दो प्रांत है जो डोनबास क्षेत्र का निर्माण करते हैं। रूस उत्तरी यूक्रेन और कीव से इस वसंत ऋतु अपने सैनिकों को पीछे बुलाने के बाद इस क्षेत्र पर ध्यान केंद्रित कर रहा है।

रूस समर्थक अलगाववादियों का दोनों प्रांतों के हिस्सों पर वर्ष 2014 से ही कब्जा है और मॉस्को ने लुहांस्क और दोनेत्स्क को संप्रभु गणराज्यों के तौर पर मान्यता दी है।

सीरिया की सरकार ने भी बुधवार को कहा कि वह इन दो इलाकों को ‘‘स्वतंत्र और संप्रभु’’ क्षेत्र के तौर पर मान्यता देगी और राजनयिक संबंध स्थापित करने के लिए कार्य करेगी।

रूस द्वारा कब्जे किए गए मेलीटोपोल शहर के निर्वासित महापौर वादिम ल्याखी ने रविवार को दावा किया कि यूक्रेन के रॉकेट ने शहर में चार रूसी सैन्य ठिकानों को ध्वस्त कर दिया है।

पश्चिमी रूस के बेलगोरोद क्षेत्र के गवर्नर ने बताया कि रविवार को यूक्रेन की मिसाइल को रोकने के लिए दागी गई मिसाइल के टुकड़ों की चपेट में आने से चार लोगों की मौत हो गई।

रूस के रक्षा मंत्रालय ने दावा किया कि कुर्स्क शहर में यूक्रेन के दो ड्रोन को मार गिराया गया।

एपी धीरज सुभाष

सुभाष

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

#HarGharTiranga