सू ची को नए जेल के कक्ष में अकेले रखा गया है : म्यांमा

सू ची को नए जेल के कक्ष में अकेले रखा गया है : म्यांमा

: , June 23, 2022 / 08:10 PM IST

बैंकॉक, 23 जून (एपी) म्यांमा की सैन्य सरकार ने बृहस्पतिवार को पुष्टि की कि अपदस्थ नेता आंग सान सू ची को जेल परिसर में अन्य बंदियों से अलग एक क्वार्टर में ले जाया गया है।

सू ची को 1 फरवरी, 2021 को उनकी निर्वाचित सरकार का तख्ता पलट करने के बाद सेना द्वारा गिरफ्तार किया गया था। शुरुआत में उन्हें राजधानी नेपीता में उनके आवास पर रखा गया था, लेकिन बाद में उन्हें एक अन्य स्थान पर ले जाया गया। पिछले एक साल से, उन्हें नेपीता में एक अज्ञात स्थान पर रखा गया है, जिसे आमतौर पर एक सैन्य अड्डा माना जाता है।

सत्तारूढ़ सैन्य परिषद के प्रवक्ता मेजर जनरल ज़ॉ मिन तुन ने पत्रकारों को एक संदेश में पुष्टि की कि सू ची को बुधवार को नेपीता की मुख्य जेल में ले जाया गया, जहां उन्हें “अच्छी” परिस्थितियों में अन्य कैदियों से अलग रखा जा रहा है। उनके स्थानांतरण की खबर बुधवार को आई थी लेकिन आधिकारिक तौर पर इसकी पुष्टि नहीं की गई थी।

उन्होंने कहा कि सू ची को पहले ही कई मामलों में दोषी ठहराया जा चुका है और उन्हें कानून के अनुसार जेल में स्थानांतरित कर दिया गया है।

सू ची की अदालती कार्यवाही से परिचित एक कानूनी अधिकारी ने कहा कि उन्हें तीन महिला पुलिसकर्मियों के साथ एक नवनिर्मित इमारत में रखा जा रहा है। इन महिला पुलिसकर्मियों का दायित्व उनकी सहायता करना है। उनके मामलों के बारे में जानकारी देने के लिये अधिकृत नहीं होने के कारण अधिकारी ने नाम न जाहिर करने की शर्त पर बताया कि उनके चल रहे मामलों में सुनवाई भी जेल में ही निर्मित एक अन्य नई सुविधा में होगी।

रविवार को 77 साल की हो गईं सू ची ने पिछली सैन्य सरकार के तहत लगभग 15 साल हिरासत में बिताए, लेकिन वस्तुतः वह इस दौरान देश के सबसे बड़े शहर यंगून में अपने परिवार के घर में नजरबंद थीं।

वह गुप्त स्थान जहां वह पिछले एक साल से अधिक समय से थी, एक निवास स्थान था। सरकार द्वारा कार्रवाई के डर से नाम न जाहिर करने के अनुरोध के साथ एक अन्य कानूनी अधिकारी ने कहा कि उनकी मदद करने के लिए उनके पास नौ लोग थे, और उन्हें एक कुत्ता रखने की अनुमति दी गई थी, जो उनके एक बेटे द्वारा उन्हें दिया गया था।

अधिकारी ने बताया कि नई जेल में न तो उनके पूर्व कर्मी और न ही कुत्ता उनके साथ होगा।

सू ची पर भ्रष्टाचार समेत कई आरोप हैं। उनके समर्थकों का कहना है कि आरोप उन्हें बदनाम करने और सेना द्वारा सत्ता कब्जाने को वैध बनाने के लिए राजनीति से प्रेरित हैं।

एपी

प्रशांत उमा

उमा

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)