विस्कॉन्सिन में एसयूवी त्रासदी दिखाती है कि वाहनों को कैसे हथियार के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है

विस्कॉन्सिन में एसयूवी त्रासदी दिखाती है कि वाहनों को कैसे हथियार के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है

Edited By: , November 23, 2021 / 12:40 PM IST

(मिया ब्लूम, जॉर्जिया स्टेट यूनिवर्सिटी)

अटलांटा (अमेरिका), 23 नवंबर (द कन्वरसेशन) पुलिस ने अभी तक इस बात की पुष्टि नहीं की है कि 21 नवंबर, 2021 को विस्कॉन्सिन के वौकेशा में क्रिसमस परेड में एक चालक किस कारण से एसयूवी लेकर घुसा और लोगों को टक्कर मारी। इस घटना में कम से कम पांच लोग मारे गए और कई अन्य घायल हो गए। लेकिन इससे एक बात यह स्पष्ट हुई है कि वाहन एक घातक हथियार हो सकते हैं, चाहे जानबूझ कर या अनजाने में उसका इस्तेमाल किया गया हो।

डेरेल ब्रूक्स जूनियर के तौर पर पहचाने गए संदिग्ध पर जानबूझकर हत्या के पांच आरोपों सहित कई और आरोपों में मुकदमा चलाए जाने की उम्मीद है। यह सामने आया है कि ब्रूक्स को इससे पहले नवंबर में गैस स्टेशन की पार्किंग में अपनी कार से एक बच्चे की मां को मारने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

वौकेशा पुलिस ने 22 नवंबर को पुष्टि की, कि नवीनतम घटना, जिसमें 3 से 16 वर्ष की आयु के 18 बच्चों को अस्पताल में भर्ती कराने की नौबत आई, आतंकवादी चरित्र की नहीं थी। न ही पुलिस यह पुलिस द्वारी पीछा किए जाने का मामला था। हालांकि, खबरों से पता चलता है कि संदिग्ध पहले की किसी घटना में फरार हो सकता है।

मौतों के तरीके ने हाल ही में कथित आसान लक्ष्यों मसलन हॉलिडे मार्केट जैसी जगहों पर वाहनों का उपयोग करके आतंकवादी हमलों की यादें जिंदा कर दी है। साथ ही पुलिस द्वारा किसी अपराधी का पीछा किए जाने पर ऐसी भागा-दौड़ी के त्रासदी में बदल जाने को लेकर भी चिंताएं गहरा गई हैं।

एक विद्वान के रूप में, जिसने वाहनों के हथियार बनने पर शोध किया है, मुझे पता है कि कार, एसयूवी और ट्रक सामूहिक हत्या का एक कुशल साधन हो सकते हैं, और एक ऐसा जिसके खिलाफ तैयार रहना लगभग असंभव हो सकता है। इसके अलावा, कुछ स्थानों में इस तरह की मौतों में शामिल चालक पर मुकदमा चलाना कठिन होता जा रहा है।

आतंकवादी समूह इस्लामिक स्टेट के सदस्य इस घातक तरीके को अपनाने वाले पहले नहीं थे – जिन्होंने लंदन, नाइस और न्यूयॉर्क में लोगों पर हमलों में वाहनों का इस्तेमाल किया – लेकिन हाल के वर्षों में वे शायद इस रणनीति से सबसे अधिक निकटता से जुड़े हुए हैं।

संगठन ने अपने प्रचार में ‘वाहन की टक्कर’ को पश्चिमी लक्ष्यों के खिलाफ अपने पसंदीदा हथियारों में से एक के रूप में चित्रित किया और समर्थकों को भीड़ के खिलाफ वाहन का उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित किया। इस्लामिक स्टेट समूह की प्रचार पत्रिका, दाबिक ने यहां तक ​​कि अकेले हमला करने वालों को सलाह तक दी कि कौन सा वाहन सबसे अधिक नुकसान कर सकता है।

उत्तर अमेरिका में, श्वेतों को सर्वश्रेष्ठ मानने वालों और अन्य चरमपंथी एवं आतंकवादी संगठनों ने भी अपने वाहनों से भीड़ को निशाना बनाया है।

इसके अलावा कानूनी मामलों में पुलिस द्वारा आरोपियों का पीछा किए जाने के मामलों में भी भीड़ से टकराने के वाकये होते हैं। हर साल करीब 500 लोग पुलिस द्वारा पीछा किए जाने के मामलों में मारे जाते हैं और करीब 5,000 घायल होते हैं।

किसी चालक के जानबूझ कर या अनजाने में बड़े पैमाने पर लोगों को हताहत करने का जोखिम, जैसा विस्कॉन्सिन मामले में दिखा, बहुत ज्यादा है।

द कन्वरसेशन

नेहा शाहिद

शाहिद