चीनी एप्लीकेशन बैन किए जाने के बाद सामने आई घबराहट, दे रहा WTO नियमों का हवाला

चीनी एप्लीकेशन बैन किए जाने के बाद सामने आई घबराहट, दे रहा WTO नियमों का हवाला

Edited By: , June 30, 2020 / 01:42 PM IST

चीन: भारत सरकार ने सोमवार को टीक टॉक, यूसी ब्राउजर, कैम स्कैनर और शेयर इट सहित 59 चीनी मोबाइल एप्लीकेशन को बैन कर दिया है। एप्लीकेशन को बैन करने के बाद भारत में चीनी दूतावास के प्रवक्ता जी रोंग ने चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगाए जाने को लेकर बड़ा बयान दिया है। जी रोंग ने कहा है कि भारत सरकार के इस फैसले को चीन गंभीरता से ले रहा है। इस तरह की कार्रवाई का दृढ़ता से विरोध कर रहा है।

Read More: क्या आपको पता है? अनलॉक 2 में 15 जुलाई से इन सेवाओं को मिलेगी छूट

जी रोंग ने आगे कहा चीन भारत द्वारा जारी नोटिस से अत्यधिक चिंतित हैं। हम स्थिति की जांच और पुष्टि कर रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि मैं इस बात पर जोर देना चाहता हूं कि चीनी सरकार हमेशा अपने कारोबारियों से विदेश में अंतरराष्ट्रीय नियमों, स्थानीय कानूनों और विनियमनों का पालन करने के लिए कहती है।

Read More: पंजाब हाईकोर्ट का आदेश, ऑनलाइन पढ़ाई हो या न हो, पालकों से ट्यूशन फीस ले सकेंगे स्कूल

भारत सरकार की जिम्मेदारी है कि वह चीनी सहित सभी बाहरी निवेशकों के वैध और कानूनी अधिकारों की रक्षा करे। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि चीन और भारत के बीच व्यावहारिक सहयोग में वास्तव में दोनों का फायदा है। उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाओं से नुकसान होगा और यह भारतीय पक्ष के हित में नहीं है।

Read More: राहुल गांधी का केंद्र सरकार पर हमला, बात ‘मेक इन इंडिया’ की लेकिन अमल होता है ‘बाय फ्रॉम चाइना’ पर