ब्रिटेन ने यूक्रेन मामले में रूस पर सेवा संबंधी प्रतिबंध लगाए |

ब्रिटेन ने यूक्रेन मामले में रूस पर सेवा संबंधी प्रतिबंध लगाए

ब्रिटेन ने यूक्रेन मामले में रूस पर सेवा संबंधी प्रतिबंध लगाए

: , November 29, 2022 / 08:16 PM IST

लंदन, 30 सितंबर (भाषा) ब्रिटेन ने “फर्जी जनमत संग्रह” के बाद यूक्रेन के चार क्षेत्रों के “अवैध विलय” के खिलाफ रूस पर शुक्रवार को नई सेवाओं और माल के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया।

सेवा प्रतिबंध रूसी अर्थव्यवस्था के कमजोर क्षेत्रों को लक्षित करने के लिए तैयार किए गए हैं, जिनमें आईटी परामर्श, वास्तुशिल्प सेवाएं, इंजीनियरिंग सेवाएं और कुछ व्यावसायिक गतिविधियों के लिए लेनदेन संबंधी कानूनी सलाहकार सेवाएं शामिल हैं।

ब्रिटेन के विदेश मंत्री ने कहा कि यूक्रेन के दोनेत्स्क, लुहांस्क, खेरसॉन और जापोरिज्जिया क्षेत्र में रूसी कार्रवाई के खिलाफ “कठोरतम शब्दों” में विरोध जताने के लिये रूसी राजदूत एंड्रे केलिन को विदेश, राष्ट्रमंडल और विकास कार्यालय (एफसीडीओ) में तलब किया जाए।

ब्रिटेन के विदेश मंत्री जेम्स क्लेवरली ने कहा, “ब्रिटेन पूरी तरह से (रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर) पुतिन की, यूक्रेनी क्षेत्र के अवैध कब्जे की घोषणा की निंदा करता है। हम इन दिखावटी जनमत संग्रह या यूक्रेनी क्षेत्र के किसी भी विलय के परिणामों को कभी मान्यता नहीं देंगे।”

उन्होंने कहा, “अंतरराष्ट्रीय कानून के इस घृणित उल्लंघन के लिए रूसी शासन को जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए। इसलिए हम अपने अंतरराष्ट्रीय भागीदारों के साथ लक्षित सेवाओं पर नए प्रतिबंध के माध्यम से आर्थिक दबाव बढ़ाने के लिए काम कर रहे हैं। यूक्रेन में जो होता है वह हम सभी के लिए मायने रखता है, और ब्रिटेन स्वतंत्रता के लिए उनकी लड़ाई में सहायता करने के लिए हर संभव प्रयास करेगा।”

भाषा प्रशांत मनीषा

मनीषा

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)