ब्रिटेन अफगानिस्तान में आतंकवाद के उभार को रोकने में पाकिस्तान के साथ मिलकर काम करेगा

ब्रिटेन अफगानिस्तान में आतंकवाद के उभार को रोकने में पाकिस्तान के साथ मिलकर काम करेगा

Edited By: , November 24, 2021 / 06:05 PM IST

(सज्जाद हुसैन)

इस्लामाबाद, 24 नवंबर (भाषा) ब्रिटेन, अफगानिस्तान के लोगों को मानवीय सहायता प्रदान करने और युद्धग्रस्त देश में आतंकवाद के उभार को रोकने समेत साझा चिंताओं के मामलों पर पाकिस्तान के साथ मिलकर काम करेगा।

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री के अफगानिस्तान और पाकिस्तान के लिए विशेष प्रतिनिधि निगेल केसी ने कहा कि ब्रिटेन अगस्त में अमेरिकी सैनिकों की वापसी के बाद अफगानिस्तान में स्थिरता सुनिश्चित करने के लिए हरसंभव प्रयास करने के लिए प्रतिबद्ध है।

ब्रिटिश उच्चायोग ने कहा कि इस्लामाबाद और कराची की तीन दिवसीय यात्रा के लिए पाकिस्तान आए केसी ने पाकिस्तान के सैन्य, असैन्य नेताओं के साथ अफगानिस्तान में मानवीय स्थिति पर चर्चा की। केसी ने सेना प्रमुख जनरल कमर बाजवा, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार मोईद यूसुफ, विदेश सचिव सोहेल महमूद और अफगानिस्तान के लिए पाकिस्तान के विशेष प्रतिनिधि मुहम्मद सादिक के साथ अफगानिस्तान से संबंधित मामलों पर बैठकें कीं।

उच्चायोग ने एक बयान में कहा, ‘‘केसी ने अफगानिस्तान में मानवीय स्थिति पर चर्चा की, जिसके लिए ब्रिटेन पहले ही 25 लाख अफगानों, खासकर महिलाओं और बच्चियों के लिए पांच करोड़ पाउंड की धनराशि देने का वादा कर चुका है। यह धनराशि इस साल अफगानिस्तान के लिए ब्रिटेन की तरफ से 28.6 करोड़ पाउंड की सहायता के लिए जताई गई प्रतिबद्धता के तहत है।’’

ब्रिटेन के दूत ने अपनी बैठक में समावेशी राजनीति, महिलाओं के अधिकार और सुरक्षा स्थिति सहित आपसी सरोकार के क्षेत्रों पर भी चर्चा की। केसी ने कहा, ‘‘ब्रिटेन अफगानिस्तान में स्थिरता सुनिश्चित करने के लिए सब कुछ करने को प्रतिबद्ध है और हमारी नीति व्यावहारिक भागीदारी में से एक है। हम अफगानिस्तान के लोगों को मानवीय सहायता प्रदान करने और अफगानिस्तान में आतंकवाद के उभार को रोकने के लिए साझा चिंताओं के मामलों पर पाकिस्तान के साथ मिलकर काम करना जारी रखेंगे।’’

अफगानिस्तान पर चर्चा के अलावा, विशेष प्रतिनिधि ब्रिटेन और पाकिस्तान के बीच व्यापार के अवसरों पर चर्चा करने के लिए कराची में व्यापारिक नेताओं से मुलाकात करेंगे। केसी ने कहा कि ब्रिटेन और पाकिस्तान के बीच व्यापार और लोगों का आपसी संबंध काफी मजबूत है। दोनों देशों के रिश्तों को ब्रिटेन में रह रहे 16 लाख पाकिस्तानी प्रवासियों ने और मजबूती दी है। केसी ने कहा, ‘‘मैं ब्रिटेन से संबद्ध अफगान लोगों को अफगानिस्तान से निकालने के हमारे प्रयासों के समर्थन के लिए पाकिस्तान का आभारी हूं।’’

भाषा आशीष नरेश

नरेश