सुरक्षा परिषद में आतंकवादियों पर पाबंदी लगाने का मुद्दा उठता है, तो उन्हें दंड से बचाने का प्रयास किया जाता है: जयशंकर |

सुरक्षा परिषद में आतंकवादियों पर पाबंदी लगाने का मुद्दा उठता है, तो उन्हें दंड से बचाने का प्रयास किया जाता है: जयशंकर

सुरक्षा परिषद में आतंकवादियों पर पाबंदी लगाने का मुद्दा उठता है, तो उन्हें दंड से बचाने का प्रयास किया जाता है: जयशंकर

: , September 22, 2022 / 10:39 PM IST

संयुक्त राष्ट्र, 22 सितंबर (भाषा) भारत ने बृहस्पतिवार को इस बात को दुखद बताया कि संरा सुरक्षा परिषद में, जब दुनिया के सबसे खतरनाक आतंकवादियों पर पाबंदी लगाने का मुद्दा उठता है, तब उन्हें दंड से बचाने का प्रयास किया जाता है और जवाबदेही से बचने के लिए राजनीति का सहारा लिया जाता है।

पाकिस्तान स्थित आतंकवादियों को काली सूची में डालने पर चीन की ओर से रोक लगाने की तरफ इशारा करते हुए भारत ने यह बयान दिया।

विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने यूक्रेन के मुद्दे पर 15 सदस्यीय संरा सुरक्षा परिषद को संबोधित करते हुए कहा, “दंड से बचाव के विरुद्ध लड़ाई बड़े स्तर पर शांति और न्याय स्थापित करने के लिए अहम है। सुरक्षा परिषद को इस मुद्दे पर स्पष्ट और एकमत से संदेश देना चाहिए।”

फ्रांस की यूरोपीय और विदेश मामलों की मंत्री कैथरीन कोलोना की अध्यक्षता में बृहस्पतिवार को बैठक हुई। जयशंकर ने चीन पर परोक्ष रूप से निशाना साधते हुए कहा, “जवाबदेही से बचने के लिए कभी राजनीति का सहारा नहीं लेना चाहिए। दोषी को दंड से बचाने के लिए भी नहीं। दुखद है कि हमने हाल में इसी परिषद में ऐसा होते देखा है जब दुनिया के कुछ सबसे खतरनाक आतंकवादियों पर पाबंदी लगाने की बात हुई थी।”

उन्होंने कहा, “अगर दिन दहाड़े होने वाले भयावह हमलों के दोषियों को सजा नहीं दी जाएगी तो इस परिषद को सोचना चाहिए कि दोषियों को दंडित नहीं करके हम क्या संदेश दे रहे हैं। हमें विश्वसनीयता सुनिश्चित करनी है तो सतत प्रयास करना होगा।”

भाषा यश नरेश

नरेश

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)