12वीं पास युवाओं के लिए सुनहरा अवसर, रोजाना 4 घंटे काम कर हर ​महीने कमाएं 70 हजार रुपए तक

12वीं पास युवाओं के लिए सुनहरा अवसर, रोजाना 4 घंटे काम कर हर ​महीने कमाएं 70 हजार रुपए तक

Edited By: , November 16, 2020 / 01:16 PM IST

रायपुर: नौकरी की तलाश कर रहे युवाओं के लिए जॉब पाने का सुनहरा अवसर आया है। दरअसल दुनिया की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी ने युवओं के लिए रोजगार के लिए अच्छा ऑफर दिए हैं। कंपनी ने युवाओं की सुविधा को देखते हुए पार्ट टाइम और फूल टाइम जॉब का ऑफर दिया है। सबसे अच्छी बात ये है ​कि इस जॉब में कर्मचारियों को सिर्फ 4 से 5 घंटे काम करना होगा और हर महीने 70 हजार रुपए तक सैलरी पा सकते हैं। इस जॉब के लिए कंपनी ने न्यूनतम योग्यता 12वीं पास तय की है।

Read More: नगरीय निकाय चुनाव से पहले सांसद और नगर निगम कमिश्नर के बीच टकराव, सीएम तक पहुंचेगी शिकायत

मिली जानकारी के अनुसार अमेजन ने अपने साथ 20000 लोगों को जोड़ने का ऐलान किया है। अमेजन डिलीवरी ब्यॉय की पोस्ट के लिए नौकरी निकालने जा रहा है। इस काम को करने के लिए आपको किसी दूसरे शहर जाने की जरूरत नहीं है। आप अपने शहर में रह कर काम कर सकते हैं। अगर आप डिलीवर ब्यॉय की नौकरी करना चाहते हैं तो सीधे अमेजन की साइट https://logistics.amazon.in/applynow पर आवेदन करें।

Read More: दिल्ली तक पहुंची मध्यप्रदेश उपचुनावों में हार की गूंज, सोनिया गांधी ने मांगी पूरी रिपोर्ट, भितरघातियों पर गिरेगी गाज

अमेजन अपने डिलीवरी ब्वॉय को 12 से 15 हजार रुपए प्रति माह सैलरी का भुगतान करती है, साथ ही डिलीवरी ब्वॉय को प्रति डिलीवरी इंसेंटिव भी देती है। बताया गया कि कंपनी इंसेटिव के तौर पर प्रोडक्ट या पैकेज को डिलीवर करने पर 15 से 20 रुपए देती हैं। अगर कोई महीने भर काम करता है और रोज 100 पैकेज डिलीवर करता है तो आराम से 60000-70000 रुपए महीना कमा सकता है।

Read More: ‘कन्या सम्मान योजना’ के तहत प्रति माह 2,500 रुपए दे रही केंद्र सरकार? जानिए क्या है सच्चाई

देने होंगे ये दस्तावेज
इस नौकरी के लिए आवेदक को स्कूल या कॉलेज पास का डॉक्यूमेंट देना होगा और यह भी जरूरी है कि आपके पास खुद का वाहन होना चाहिए। आवेदक को कंपनी को अपने वाहन के डॉक्यूमेंट यानि आरसी बूक, इंश्योरेंस और ड्राइविंग लाइसेंस देना होगा।

Read More: हाईकोर्ट के आदेश के बाद भी जेल से बाहर नहीं आ सके कंप्यूटर बाबा, जेल अधीक्षक ने जमानत देने से किया इनकार