निजी कर्मचारियों की बल्ले-बल्ले! सैलरी में होगा बड़ा इजाफा, निजी कंपनियां लेने जा रही बड़ा फैसला |

निजी कर्मचारियों की बल्ले-बल्ले! सैलरी में होगा बड़ा इजाफा, निजी कंपनियां लेने जा रही बड़ा फैसला

बता दें कि पिछले वित्त वर्ष की वास्तविक वेतन वृद्धि 9.5 प्रतिशत थी। रिपोर्ट के अनुसार भारत में आधे से अधिक (58 प्रतिशत) नियोक्ताओं ने पिछले साल की तुलना में चालू वित्त वर्ष के लिए अधिक वेतन वृद्धि का बजट रखा है।

Edited By: , August 17, 2022 / 12:48 PM IST

Private employees good news: नई दिल्ली। देश में अगले साल कर्मचारियों के वेतन में इस बार के मुकाबले ज्यादा वृद्धि हो सकती है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनियां 2023 में 10 प्रतिशत सैलरी बढ़ा सकती हैं। वैश्विक सलाहकार, ब्रोकिंग और समाधान सेवाएं मुहैया कराने वाली कंपनी विलिस टावर्स वाटसन (डब्ल्यूटीडब्ल्यू) की वेतन बजट योजना रिपोर्ट में पाया गया कि भारत में कंपनियां 2022-23 के दौरान 10 प्रतिशत वेतन बढ़ाने के लिए बजट तैयार कर रही हैं।>>*IBC24 News Channel के WHATSAPP  ग्रुप से जुड़ने के लिए  यहां CLICK करें*<<

ये भी पढ़ेंः महंगाई की मार झेल रही जनता को बड़ी राहत, PNG और CNG गैस के दामों में आई कमी, इतने रुपए हुए सस्ते

बता दें कि पिछले वित्त वर्ष की वास्तविक वेतन वृद्धि 9.5 प्रतिशत थी। रिपोर्ट के अनुसार भारत में आधे से अधिक (58 प्रतिशत) नियोक्ताओं ने पिछले साल की तुलना में चालू वित्त वर्ष के लिए अधिक वेतन वृद्धि का बजट रखा है। हालांकि, इनमें से एक चौथाई (24.4 प्रतिशत) ने बजट में कोई बदलाव नहीं किया। रिपोर्ट में कहा गया कि 2021-22 की तुलना में केवल 5.4 प्रतिशत ने बजट कम किया है।

ये भी पढ़ें : कंपनियों के साथ भागीदारी, मूल्य सृजन को लेकर झुनझुनवाला की रणनीति जारी रखेंगे: रेअर एंटरप्राइजेज

भारती में होगी ज्यादा वृद्धि

Private employees good news: रिपोर्ट के मुताबिक, एशिया प्रशांत (एपीएसी) क्षेत्र में सबसे अधिक वेतन वृद्धि भारत में होगी। अगले साल चीन में छह फीसदी, हांगकांग और सिंगापुर में चार फीसदी वेतन बढ़ेगा। यह रिपोर्ट अप्रैल और मई 2022 में 168 देशों में किए गए सर्वेक्षण पर आधारित है। इसके लिए भारत में 590 कंपनियों से बात की गई है।

अगले 12 महीने बिजनेस के लिए खास

रिपोर्ट के मुताबिक भारत में करीब 42 फीसदी कंपनियों ने अगले 12 महीने के दौरान पॉजिटिव बिजनेस रेवेन्यू आउटलुक का अनुमान जताया है, जबकि केवल 7.2 फीसदी ने निगेटिव आउटलुक की बात कही है। रिपोर्ट के मुताबिक, इंजीनियरिंग सेक्टर में वेतन 52.9 फीसदी, आईटी में 65.5 फीसदी, सेल्स में 35.4 फीसदी, तकनीक कुशल क्षेत्र में 32.5 फीसदी और फाइनेंस में 17.5 की बिजनेस रेवेन्यू ग्रोथ देखने को मिल सकती है।

Read more: IBC24 की अन्य बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें