इन राज्यों में तबाही मचाएगा ‘साइक्लोन गुलाब’, छत्तीसगढ़ में भी तेज हवाओं के साथ भारी बारिश की चेतावनी

इन राज्यों में तबाही मचाएगा 'साइक्लोन गुलाब'! Cyclone Gulab alert in Chhattisgarh, Odisha, west bengal heavy rain or strong wind for two days

Edited By: , September 25, 2021 / 06:51 PM IST

नई दिल्ली: भादो महीने के लगातार बारिश होने के चलते देश के कई हिस्सों में बाढ़ जैसी स्थिति बन गई थी। इसी बीच एक बार​​ फिर मौसम विभाग ने देश के कई राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी दी है। मौसम विभाग के अनुसार समुद्र के ऊपर कम दवाब के कारण देश के कई राज्यों में भारी वर्षा हो सकती है।

Read More: राजधानी रायपुर में स्वाइन फ्लू की एंट्री, एक मरीज की मौत, 5 लोगों में हुई पुष्टि

मौसम विभाग ने जिस चक्रवात की चेतवानी दी है उसे ‘साइक्लोन गुलाब’ के नाम से जाना जाता है। चक्रवाती तूफान शनिवार और रविवार को दो दिनों तक सक्रिय रह सकता है। आईएमडी भुवनेश्वर के वैज्ञानिक डॉ. संजीव द्विवेदी ने बताया कि डीप डिप्रेशन की स्थिति 25 सितंबर को उत्तर और पूर्व-मध्य बंगाल की खाड़ी के पास है। यह गोपालपुर से 510 किलोमीटर पूर्व- दक्षिण-पूर्व की दूरी पर है। कलिंगापट्टनम से पूर्व-उत्तर-पूर्व पर 590 किलोमीटर की दूरी पर है। इसके अगले 12 घंटे में चक्रवाती तूफान बनने की संभावना है।

Read More: अक्टूबर में 21 दिन बंद रहेंगे बैंक, देर न करें जल्द निपटा लें बैंकिंग से जुड़ा कामकाज

मौसम ​वैज्ञानिकों से मिली जानकारी के अनुसार 26-27 सितंबर को ‘साइक्लोन गुलाब’ के चलते ओडिशा, छत्तीसगढ़, आंध्र प्रदेश और ​पश्चिम बंगाल के कई क्षेत्रों में तेज हवाओं के साथ मूसलाधार बारिश हो सकती है। बताया जा रहा है कि लैंडफॉल के समय हवा की गति 70-80 किलोमीटर प्रति घंटे रहने की संभावना है।

Read More: नवरात्रि में बम्लेश्वरी मंदिर में शर्तों के साथ मिलेगी दर्शन की अनुमति, एप में कराना होगा रजिस्ट्रेशन

चेतावनी के बाद पश्चिम बंगाल की ममता सरकार ने तत्काल प्रभाव से सभी इमरजेंसी सरकारी कर्मचारियों की छुट्टी 5 अक्टूबर तक रद्द कर दी है। इसके अलावा राज्य सरकार ने लोगों से भी घरों में रहने की अपील की है। साथ ही आंध्र प्रदेश और दक्षिण ओडिशा तटों के लिए चक्रवात अलर्ट के मद्देनजर क्रमशः एनडीआरएफ की 13 टीमों की तैनाती की जाएगी।

Read More: छत्तीसगढ़ में स्वास्थ्य विभाग में होगी 3000 पदों पर भर्ती, मंत्री टीएस सिंहदेव ने दी स्वीकृति