Entry of a new virus between Corona-Monkeypox, wreaking havoc in this

कोरोना-मंकीपॉक्स के बीच एक नए वायरस का एंट्री, इस राज्य में बरपा रहा कहर, स्वास्थ्य विभाग ने जारी की गाइडलाइन

Japanese Encephalitis: जापानी इंसेफेलाइटिस के कारण असम में पिछले 1 महीने में 48 लोगों की मौत हो गई है, वहीं 302 लोग वायरस से संक्रमित हुए हैं

Edited By: , July 31, 2022 / 12:21 PM IST

असम। Japanese Encephalitis: एक ओर जहां लोग कोरोना और मंकीपॉक्स से परेशान है और मुसीबतों का सामना कर रहे हैं वहीं दूसरी ओर एक नए वायरस ने एंट्री मार ली है। इस नई मुसीबत ने पूर्वोत्तर के राज्य असम में दस्तक दी है। असम में जापानी इंसेफेलाइटिस का कहर दिखाई दे रहा है। असम में शनिवार को जापानी इंसेफेलाइटिस से एक और मरीज की जान चली गई। जापानी इंसेफेलाइटिस के कारण असम में पिछले 1 महीने में 48 लोगों की मौत हो गई है, वहीं 302 लोग वायरस से संक्रमित हुए हैं। प्रशासन की तरफ से लोगों से अपील की गई है कि सावधानी बरतें। जापानी इंसेफेलाइटिस के लक्षण दिखने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। स्वास्थ्य विभाग की तरफ से जारी की गई गाइडलाइंस का पालन करें।

Android यूजर्स सावधान! खतरनाक हैं ये ऐप्स, अगर आप भी यूज करते हैं तो तुरंत करें डिलीट

यहां सामने आए मामले

शनिवार को जापानी इंसेफेलाइटिस से मौत का एकमात्र मामला असम के चिरांग में सामने आया है। वहीं, बारपेटा में 3 और बक्सा, बोंगाईगांव, चराईदेव, मोरीगांव और उदलगुरी में एक-एक संक्रमित होने की खबर सामने आई है। इससे पहले शुक्रवार को असम में जापानी इंसेफेलाइटिस के 7 नए मामले आए थे। वहीं, 3 मरीजों की मौत हो गई थी। मौजूदा समय में साउथ सलमारा, दीमा हसाओ और कार्बी आंगलोंग को छोड़कर असम के सभी जिले जापानी इंसेफेलाइटिस संक्रमण से प्रभावित हैं।

जापानी इंसेफेलाइटिस के लक्षण

जापानी इंसेफेलाइटिस होने के शुरुआती लक्षण बुखार, गर्दन में जकड़न, कमजोरी, सिरदर्द और उल्टी आना ये सब दिखाई देते है। इस वायरस ये पीड़ित व्यक्ति के शरीर में हमेशा सुस्ती छाई रहती है। इसके अलावा भूख कम लगती है और तेज बुखार आता है। छोटे बच्चों में ज्यादा देर तक रोना, भूख कम लगना, बुखार और उल्टी होना भी जापानी इंसेफेलाइटिस के लक्षण दिखाई देते है।

बचने के उपाय

जापानी इंसेफेलाइटिस से बचने के लिए समय पर टीका लगवाएं। आस-पास और स्वयं की साफ-सफाई अच्छे से करें। गंदे पानी के संपर्क में आने से जरुर बचें। घर के आस-पास पानी नहीं जमा होने दें।

Read more: IBC24 की अन्य बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

 

 

 

#HarGharTiranga