TMC MP Mahua Moitra, who said 'Goddess who eats black meat, drinks

‘मेरे लिए काली मांस खाने, शराब पीने वाली देवी’ जानिए कौन है ऐसा कहने वाली TMC सांसद महुआ मोइत्रा, विवादों से रहा है नाता

TMC MP Mahua Moitra, who said 'Goddess who eats black meat, drinks alcohol for me', has been associated with controversies

Edited By: , July 7, 2022 / 02:19 PM IST

IBC Pedia : महुआ मोइत्रा की मुश्किलें थमने का नाम नहीं ले रही हैं। महुआ ने देवी काली पर आपत्तिजनन टिपण्णी की। जिसके बाद देशभर में उनकी आलोचना हो रही हैं। बीजेपी नेत्री के खिलाफ सड़क में उतर गई। उन पर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप है। वहीं चारों तरफ से विवादों में घिरी महुआ ने कहा है कि वह किसी से नहीं डरतीं। उन्होंने यहां तक कहा कि वह ऐसे भारत में नहीं रहना चाहतीं जहां बोलने की आजादी नहीं है। महुआ की पार्टी टीएमसी उनके बयान से पहले ही किनारा कर चुकी है और अब बीजेपी ने भी उनकी गिरफ्तारी की मांग कर रही है।

 

डॉक्यूमेंट्री फिल्म के पोस्टर से शुरु हुआ विवाद

दरअसल ये पूरा विवाद लीना मणिमेकलई की डॉक्यूमेंट्री काली के पोस्टर को लेकर शुरू हुआ था। इस पोस्टर के आउट होने के बाद देशभर के लोग लीना मणिमेकलई की आलोचना करने लगे। इसी बीच इस विवादित पोस्टर को लेकर उन्होंने कहा कि वह मां काली को मांस खाने और शराब पीने वाली देवी के रूप में देखती हैं। एक मूवी पोस्‍टर पर उठे विवाद पर प्रतिक्रिया देते हुए टीएमसी सांसद ने यह बात कही। महुआ ने आगे कहा काली के कई रूप हैं। मुझे इस पोस्टर को लेकर कोई दिक्कत नहीं है। कई जगह देवताओं को तो शराब तक चढ़ाई जाती है। अगर आप भूटान और सिक्किम चले जाओ तो वहां सुबह पूजा में भगवान को शराब चढ़ाई जाती है, लेकिन चीज आप उत्तर प्रदेश में किसी को प्रसाद में दे दें तो उसकी भावनाएं आहत हो सकती है। मेरे नजर में देवी काली एक मांस खाने वाली और शराब पीने वाली देवी के रूप में है। उनके अनुसार, हर किसी को अपनी तरह से देवी-देवताओं को देखने और पूजा करने का अधिकार है। मोइत्रा ने पूर्व बीजेपी प्रवक्‍ता नूपुर शर्मा के संदर्भ में भी बोला। उन्‍होंने कहा कि वह आलोचना करने की पक्षधर हैं। हालांकि, आलोचना करने और हिंसा उकसाने में अंतर है।

 

जाने कौन हैं महुआ मोइत्रा?

महुआ मोइत्रा टीएमसी की ओर से पश्चिम बंगाल की कृष्णानगर सीट से सांसद हैं। 2019 में वो पहली बार बीजेपी के कल्याण चौबे को शिकस्त देकर संसद पहुंची हैं। हालांकि, इससे पहले वो विधायक थीं। टीएमसी में आने से पहले महुआ कांग्रेस के साथ थीं। कोलकाता में पैदा हुईं महुआ की पढ़ाई अमेरिका से हुई है। बाद में उन्होंने लंदन की एक बैंकिंग कंपनी में जॉब भी की थी। हालांकि, 2009 में वो भारत लौट आईं और यहां पॉलिटिक्स में किस्मत आजमाई। दूसरी ओर, महुआ मित्रा के बयान से तृणमूल कांग्रेस ने किनारा कर लिया है। तृणमूल कांग्रेस की ओर से ट्वीट में लिखा गया है कि महुआ का बयान पर्सनल है। इससे तृणमूल कांग्रेस का कोई लेना-देना नहीं है। वहीं अपने इस बयान के बाद महुआ मोइत्रा ने भी TMC का ट्विटर अकाउंट अनफॉलो कर दिया है।

 

विवादों से रहा गहरा नाता

47 साल की महुआ मोइत्रा तलाकशुदा हैं। उनकी शादी डेनमार्क के एक फाइनेंसर लार्स ब्रॉर्सन से हुई थी। हालांकि, शादी ज्यादा दिनों तक नहीं टिकी और दोनों का तलाक हो गया। महुआ अक्सर अपने विवादित बयानों की वजह से चर्चा में रहती हैं। बता दें कि कुछ दिनों पहले दिल्ली के स्टेडियम में कुत्ते को टहलाने को लेकर विवादों में आए आईएएस का तबादला अरुणाचल प्रदेश किए जाने पर महुआ ने इस कार्रवाई को नॉर्थ-ईस्ट का अपमान बताया था। महुआ ने अपने ट्वीट में कहा था कि गृह मंत्रालय ने आईएसएस का ट्रांसफर पूर्वोत्तर राज्य में करके ये साबित कर दिया है कि ये राज्य उनकी नजर में कचरा फेंकने की जगह है।

 

‘ऐसे भारत में नहीं रहना चाहती’

महुआ ने एक साक्षात्कार में कहा, ‘मैं ऐसे भारत में नहीं रहना चाहती जहां मुझे अपने धर्म को लेकर बोलने तक की आजादी ना हो।’ उन्होंने कहा ऐसे भारत में वह नहीं रहना चाहतीं जहां उन्हें हाथी को कमरे में रखने को कहा जाए। मतलब हाथी को कमरे में नहीं रखा जा सकता है। यह असंभव है।

बीजेपी कर रही गिरफ्तारी की मांग

बीजेपी महुआ मोइत्रा की गिरफ्तारी की मांग को लेकर लगातार धरना-प्रदर्शन कर रही है। बीजेपी ने कहा कि अगर महुआ पर 10 दिनों में कार्रवाई नहीं की गई तो वह कोर्ट का रुख करेगी। महुआ ने बुधवार को ट्वीटकर कहा कि मैं न आपके (BJP के) गुंडों से डरती हूं, न ही पुलिस से।

 

महुआ पर भड़के सीएम शिवराज और मंत्री मिश्रा

मध्य प्रदेश में मुख्‍यमंत्री शिवराज सरकार ने काली देवी विवाद में बड़ा एक्शन लिया है। इस मामले में टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा के खिलाफ भोपाल की क्राइम ब्रांच ने एक एफआईआर दर्ज की है। सांसद मोइत्रा ने मां काली को लेकर विवादित बयान दिया था। इस मामले पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि महुआ मोइत्रा के बयान से हिंदू धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंची है। हिंदू देवी-देवताओं का अपमान किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। महुआ मोइत्रा पर आईपीसी की धारा 295A के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। एमपी के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि महुआ मोइत्रा में हिम्मत हो तो वे किसी दूसरे धर्म के खिलाफ इस तरह की टिप्पणी करके दिखाएं। मीडिया से बातचीत करते हुए मिश्रा ने कहा कि इस तरह की फिल्में हिंदू देवी-देवताओं के खिलाफ ही क्यों बनती हैं। फिल्मकार दूसरे धर्म के देवी-देवताओं के खिलाफ इस तरह की हिम्मत क्यों नहीं करते। गृह मंत्री से पहले राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी उनके बयान पर आपत्ति जता चुके हैं।

TMC सांसद के समर्थन में आए शशि थरूर

कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने टीएमसी एमपी महुआ मोइत्रा की देवी काली वाली टिप्पणी पर समर्थन किया है। शशि थरूर ने कहा कि महुआ मोइत्रा पर कुछ ऐसा कहने के लिए हमला किया जा रहा है, जो हर हिंदू जानता है। थरूर ने ट्वीट कर लिखा कि हम ऐसी स्थिति में पहुंच गए हैं जहां कोई भी किसी के नाराज होने का दावा किए बिना धर्म के किसी भी पहलू के बारे में सार्वजनिक रूप से कुछ नहीं कह सकता है।

Read more: IBC24 की अन्य बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

 

#HarGharTiranga