People are facing problems in work from home

परेशानी का सबब बन रहा वर्क फ्रॉम होम! इस वजह से नौकरी छोड़ रहे हजारों कर्मचारी, रिसर्च में हुआ चौंकाने वाला खुलासा

People are facing problems in work from home: Due to increasing back and neck pain in work from home, thousands of people quit their jobs.... अमेरिका और यूरोप के कई देश बदले हुए वर्क पैटर्न की वजह से अपनी नौकरी छोड़ रहे हैं। इसका सबसे बड़ा कारण है कई महीनों से चल रहा है वर्क फ्रॉम होम और उसकी वजह से कर्मचारियों की गर्दन और कमर में दर्द।

Edited By: , November 29, 2022 / 07:55 PM IST

People are facing problems in work from home: कोरोना ने लोगं के जीवनशैली पर बहुत गहरा प्रभाव डाला है। यह महामारी करीब तीन साल पहले शुरू हुई थी और अब स्थिति सामान्य हो चुकी है, वहीं कोरोना महामारी ने ऑफिस वर्क पर भी बड़ा असर डाला है। अमेरिका और यूरोप के कई देश बदले हुए वर्क पैटर्न की वजह से अपनी नौकरी छोड़ रहे हैं। इसका सबसे बड़ा कारण है कई महीनों से चल रहा है वर्क फ्रॉम होम और उसकी वजह से कर्मचारियों की गर्दन और कमर में दर्द।

Netflix New Plan: यूजर्स की बल्ले-बल्ले… नेटफ्लिक्स ला रहा ये खास प्लान, जानें पूरी डिटेल्स

हजारों कर्मचारियों ने छोड़ी नौकरी

रिपोर्ट में हैरानी वाली बात यह है कि इनमें से करीब 62 हजार लोग ऐसे हैं जिन्होंने वर्क फ्रॉम होम के दौरान गर्दन और कमर में दर्द की शिकायत दर्ज कराई और इसके चलते उन्होंने नौकरी छोड़ दी। बता दें कि ब्रिटेन में नौकरी छोड़ने की सबसे बड़ी वजह मानसिक बीमारी है और अब दूसरे नंबर पर वर्क फ्रॉम होम के चलते नेक और बैक पेन है।। ब्रिटेन की ऑफिस फास नेशनल स्टेटिस्टिक्स की रिपोर्ट में इसको लेकर एक बड़ा खुलासा हुआ है। रिपोर्ट के मुताबिक 3 साल पहले 2019 में बीमारी की वजह से देश में काम न करने वालों की संख्या करीब 20 लाख थी वहीं अब यह संख्या 25 लाख को पार कर गई है।

इस औषधीय फसल की खेती करने से बदल जाएगी किस्मत, बेहद कम समय में हो जाएंगे मालामाल..

25 से लेकर 45 साल के लोग हो रहे प्रभावित

हेल्थ एक्सपर्ट के अनुसार, पिछले एक दो सालों में गर्दन और कमर दर्द के मामले काफी तेजी से बढ़े हैं। यह समस्या ज्यादातर 25 से लेकर 45 साल के लोगों के बीच में देखी जा रही है। ऑफिस में काम करने के लिए एक खास तरह का माहौल और डिजाइन होता है, लेकिन घर में लोग उस तरह से काम नहीं करते। लोग एक ही स्थिति में घंटो बैठे रहते हैं जिसका शरीर पर बुरा असर पड़ता है। बिस्तर या फिर सोफे पर घंटो बैठकर काम करने से गर्दन और पीठ पर दर्द की संभावना कई गुना बढ़ जाती है।

होम लोन लेना आसान! ये बैंक दे रहा जबरदस्त ब्याज दर, इच्छुक जल्द उठा लें ऑफर का लाभ

एक्सपर्ट का सुझाव

एक्सपर्ट का कहना है कि पीठ और गर्दन के दर्द से छुटकारा पाने के लिए मरीजों को हाइब्रिड मोड पर काम करना शुरू करना चाहिए। इसके लिए कर्मचारियों को सप्ताह में कुछ दिन दफ्तर में काम करना चाहिए और कुछ घर से काम करना चाहिए। हर किसी को घर में काम करने से पहले दफ्तर जैसा सेटअप तैयार करना चाहिए और इस बात का ध्यान रखें के थोड़ी थोड़ी देर में माइक्रोब्रेक्स लेकर टहले जरूर।

देश दुनिया की बड़ी खबरों के लिए यहां करें क्लिक