Damoh dharmantaran latest update

धर्मांतरण के मुद्दे में आया नया मोड़, कलेक्टर के बाद एसपी पर लगे गंभीर आरोप,जानें पूरा मामला

Damoh dharmantaran latest update दमोह के धर्मान्तरण मामले मे आया नया मोड़, दमोह कलेक्टर के बाद अब दमोह sp पर लगाए लीगल राइट ऑब्जरवेटरी (LRO )ने लगाए गंभीर

Edited By: , November 29, 2022 / 08:18 PM IST

Damoh dharmantaran latest update: दमोह। मध्य प्रदेश में इन दिनों धर्मांतरण का मुद्दा गर्म है। यहां दमोह में धर्मांतरण का मामला सामने आने के बाद इस मामले ने तूल पकड़ लिया है। इस मामले में अब धीरे-धीरे परते खुलती जा रहीं है। तो अब मामले में अब एक नया मोड़ आ गया है। पहले तो इस मामले में कलेक्टर का नाम लिप्त बताया जा रहा था लेकिन अब इस मामले में एसपी का नाम भी शामिल हो गया है। दमोह कलेक्टर के बाद अब दमोह sp पर लीगल राईट ऑब्जरवेटरी (LRO)ने ट्वीट कर गंभीर आरोप लगाए है।

एसपी पर लगाए गंभीर आरोप

Damoh dharmantaran latest update: यहां ट्वीट कर एसपी पर निशाना साधा गया है। लीगल राईट ऑब्जरवेटरी ने ट्वीट कर कहा है कि, दमोह एसपी धर्मान्तरण माफिया को बचाने कि आपराधिक साजिस रच रहे है। और दमोह sp ने कोर्ट मे शपथ पत्र देकर कहा है कि, आयोग ने बच्चे का अपहरण किया था। जबकि आयोग ncpcr ने बच्चे को सुरक्षित बचाकर निकाला था। बता दें कि ट्वीट मे लीगल राईट ऑब्जरवेटरी ने भारत सरकार के गृह मंत्री को टैग करते हुए आग्रह किया है कि, एस पी दौलत राम तेनुवार कि आईपीएस कि उपाधि बापिस ली जाए। साथ मे (LRO) ने ट्वीट मे मध्यप्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह और गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा को भी टैग किया है।

ऐसे हुआ था खुलासा

Damoh dharmantaran latest update: गौरतलब है कि, 13 नवंबर को ncpcr के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रियंक कानूनगो के द्वारा, दमोह कि ईसाई मिशनरी मे संचालित बालग्रहो का ओचक निरिक्षण किया गया था। जिसमे उन्हें दमोह के ईसाई मिशनरी के बाल ग्रहो मे धर्मान्तरण से जुड़े कई साक्ष मिले थे। जिसके बाद ncpcr के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रियंक कानून गो के द्वारा खुद दमोह के देहात थाना मे पहुंचकर अजय लाल समेत 10 लोगों पर एफ आई आर दर्ज कि गई थी।

एसपी ने झाड़ा पल्ला

Damoh dharmantaran latest update: जिसमे दमोह csp अभिषेक तिवारी को जांच के लिए oic नियुक्त किया गया था, मगर शनिवार को दमोह csp अभिषेक तिवारी का ट्रांसफर कर दिया गया, जो चर्चाओ का विषय बना हुआ है। हालांकि ट्वीट मे लगे दमोह sp पर आरोप पर, दमोह sp ने कुछ भी कहने से इंकार कर दिया। इतना ही नहीं पल्ला झाड़ते हुए कहा कि मैं इस मामले मे कुछ नहीं जानता हूं, और न ही मे किसी लीगल राईट ऑब्जरवेटरी को पहचानता हूं।

IBC24 की अन्य बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें